अगर आप भी चलाते हैं Android फोन तो भूलकर भी ना करें ये गलती

android tricks अगर आप एक android फोन उपयोगकर्ता है और थोड़ी बहुत टेक्निकल जानकारी रखते हैं तो एंड्रॉयड रूट के बारे में ना सुना हो ऐसा तो नहीं हो सकता है एंड्राइड फोन को रूट कैसे करें एंड्रॉयड फोन को रूट करने के क्या फायदे हैं और एंड्रॉयड फोन को रूट करने के नुकसान है इसके बारे में विशेष रुप से समझेंगे तो चलिए जानते हैं

Phone root आज के समय में मार्केट में बहुत सारे एंड्राइड मोबाइल फोन बहुत ही कम कीमतों में प्राप्त हो जा रहे हैं और इस समय की बात करें तो इस समय एंड्राइड मोबाइल में ram और मेमोरी कार्ड दोनों ही ज्यादा मिलती है फिर भी जो सस्ते फोन बाजारों में उपलब्ध है फोन में कम ram होती है या फिर फोन में एंड्राइड वर्जन कम होता है

एंड्राइड वर्जन को अपग्रेड करने के लिए एंड्रॉयड फोन को रूट किया जाता है एंड्रॉयड फोन को रूट करने के बाद ही एंड्राइड वर्जन को बढ़ाने के लिए custom ROM इंस्टॉल किया जा सकता है साथ ही साथ वाईफाई का पासवर्ड पता करने के लिए भी फोन को रूट किया जाता है

अगर-आप-भी-चलाते-हैं-Android-फोन.webp

Root kya hai कंपनी जब किसी भी एंड्रॉयड फोन को लांच करती है तो लंच करने के बाद कुछ परमिशन को लॉक कर दिया जाता है और इसी परमिशन को अनलॉक करने के लिए फोन को रूट किया जाता है एक बार अगर आपने अपने फोन को root कर लिया तो आपके फोन की सिक्योरिटी खत्म हो जाती है और आप अपने फोन में किसी भी तरह का बदलाव कर सकते हैं लेकिन फोन को रूट करने के कुछ फायदे भी हैं और फोन को रूट करने के नुकसान भी हैं सबसे पहले यह जानते हैं कि फोन को root करने के बारे में

Android Phone ko root karne ke fayde

  • अगर आप अपने फोन के internal storage को बढ़ाना चाहते हैं यानी कि अगर आप अपने फोन की ram को बढ़ाना चाहते हैं तो root करने के बाद आसानी से बढ़ा सकते हैं
  • जब भी आप कोई नया फोन लेते हैं तो उसे पहले से कुछ ऐसी एप्लीकेशन इंस्टॉल होती हैं जिनको आप चाह कर भी डिलीट नहीं कर सकते हैं लेकिन एक बार फोन को root करने के बाद आप आसानी से इस एप्लीकेशन को डिलीट कर सकते हैं
  • आप अपने फोन के Android version को अपग्रेड कर सकते हैं यानी कि अगर आपके फोन में oreo, marshmallow, है तो आप आसानी से इसे अपग्रेड करके Android 11 या Android 12 में बदल सकते है

इसे भी पढ़ें बिना नंबर के व्हाट्सएप कैसे चलाएं

हालांकि आप अपने एंड्रॉयड फोन को रूट करके काफी आसानी से इन सारी चीजों को बदल सकते हैं लेकिन जिस तरह से हर चीज का एक नुकसान होता है उसी तरह से एंड्रॉयड फोन को रूट करने के नुकसान भी हैं तो चलिए मान लेते हैं कि एंड्रॉयड फोन को रूट करने के क्या नुकसान है

एंड्रॉयड फोन को रूट करने के नुकसान

  • अगर आपका फोन आया है और वारंटी पीरियड में है तो फोन को रूट करने से आपके फोन की वारंटी खत्म हो जाती है
  • Phone रूट करने के बाद फोन में वायरस आने की संभावना बढ़ जाती है
  • आपके फोन पर ऑटोमेटिक ऐप इंस्टॉल होने की संभावना भी बढ़ जाती है
  • फोन को रूट करने के बाद फोन गर्म होने और क्रैश होने की संभावना भी बढ़ जाती है

तो यह थी एंड्रॉयड फोन को रूट करने की कुछ advantage और disadvantage तू अब तक आपने यह समझ ही लिया होगा कि हमें अपने फोन को रूट करना चाहिए या नहीं करना चाहिए अब जानते हैं कि एंडॉयड फोन को रूट कैसे किया जाता है या फिर एंड्रॉयड फोन को रूट कैसे कर सकते हैं

Android phone root kaise karen एंड्रॉयड फोन को रूट करने के 2 तरीके उपलब्ध है इन 2 तरीकों के माध्यम से एंड्रॉयड फोन को आसानी से रूट किया जा सकता है जिनमें सबसे पहला तरीका है कंप्यूटर के द्वारा रूट करने का इस तकनीकी में फोन को रूट करने के लिए कंप्यूटर में रूट करने वाले सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होती है इसके बाद अपने फोन को डाटा केबल से कनेक्ट करके रूट किया जाता है

android phone root without using PC एंड्रॉयड फोन को बिना पीसी के भी रूट किया जा सकता है इसके लिए प्ले स्टोर से kingoroot नाम के एप्लीकेशन को डाउनलोड किया जाता है इसके बाद इसको इंस्टॉल किया जाता है इंस्टॉल करने के बाद सबसे पहले अपने इंटरनेट कनेक्शन को बंद किया जाता है उसके बाद या एप्लीकेशन एंड्राइड मोबाइल की सारी डिटेल चेक करता है इसके बाद उसको रूट करना आरंभ करता है जिसके बाद आपका फोन रूट हो जाता है

Warning कभी भी अपने एंड्रॉयड फोन का android version बढ़ाने के लिए या ram बढ़ाने के लिए इस ट्रिक का इस्तेमाल ना करें

निष्कर्ष अब तक हमने यह अच्छी तरह समझ लिया है कि एंड्राइड रूट क्या होता है और इसके क्या फायदे और क्या नुकसान हैं इसलिए हमें इस बात पर विशेष ध्यान देना चाहिए कि कभी भी अपने फोन को रूट करने की कोशिश ना करें धन्यवाद

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here