केसर farming business अपने घर पर शुरू करें लाखों का मुनाफा

Small business idea : केसर फार्म बिजनेस को आप अपने घर की छत से शुरू करके इस व्यवसाय के द्वारा हर महीने लाखों का मुनाफा प्राप्त कर सकते हैं

केसर का व्यवसाय

Business idea आज हम जिस व्यवसाय के बारे में जानने जा रहे हैं उस केसर के व्यवसाय को सिर्फ ₹10000 से शुरू करके हर महीने लाखों का मुनाफा प्राप्त किया जा सकता है क्योंकि इस व्यवसाय में उपयोग होने वाले इस प्रोडक्ट की कीमत अगर एक जगह पर ₹10000 किलो है तो दूसरी जगह पर इसी प्रोडक्ट की कीमत ₹400000 किलो की हो जाती है अगर आप महीने में इस प्रोडक्ट के अंदर 2 किलो की सेल कर लेते हैं तो आप आसानी से 800000 का मुनाफा प्राप्त कर सकते हैं

केसर-की-खेती.webp

आप इस व्यवसाय को बहुत ही कम लागत में शुरू कर सकते हैं और बहुत ही अच्छा खासा मुनाफा हर महीने प्राप्त कर सकते हैं क्योंकि इस व्यवसाय को शुरू करने के जो भी तरीके हैं वह सारे तरीके आपको यहां पर मिलने वाले हैं साथ ही साथ आपको यह भी जानकारी मिलेगी कि आप कहां से इस प्रोडक्ट को खरीद सकते हैं और कहां पर इस प्रोडक्ट को बेच सकते हैं

केसर की खेती यह एक प्रकार का ऐसा व्यवसाय है जिसके बारे में आपने सिर्फ सुना होगा क्योंकि केसर की खेती ज्यादातर कश्मीर में ही की जाती है लेकिन केसर की खेती का व्यवसाय आप अपने घर पर भी शुरू कर सकते हैं Kesar ki kheti घर पर करने के लिए केसर की प्रजाति कश्मीरी मोगरा केसर का उपयोग किया जाता है और इसे आप आसानी से अपने घर पर भी कर सकते हैं

केसर-का-पेड़.webp

केसर को लाल सोना के नाम से भी जाना जाता है और जिस तकनीकी से आप इस व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं कुछ तकनीकी का नाम है एरोपोनिक तकनीकी, एरोपोनिक तकनीकी के द्वारा अब तक सिर्फ ईरान स्पेन और चीन में ही केसर की खेती की जाती थी लेकिन अब आप इसे भारत में भी अपने घर पर आसानी से शुरू कर सकते हैं

केसर की खेती का व्यवसाय कैसे शुरू करें

केसर की खेती का व्यवसाय शुरू करने के लिए आपको आवश्यकता होगी एक ऐसे कमरे की जहां पर डायरेक्ट धूप का प्रभाव ना पड़े इसको एक तरह से आपको लैब के रूप में कन्वर्ट करना होगा बेहतर होगा कि इसके लिए आप एरोपोनिक तक नहीं की को विशेष रूप से समझें और यह किस तरह से काम करती है इसके बारे में अच्छी तरह समझ लें

इसे भी पढ़ें : मशरूम की खेती का व्यवसाय कैसे शुरू करें

एरोपोनिक तकनीकी क्या है इस तकनीकी में टिशू पेपर से विकसित स्वास्थ्य और सुक्ष्म पौधों को मिट्टी रहित प्रणाली में लगाया जाता है जिसमें पौधों की जड़ों हवा में लटकती रहती हैं और सूर्य की किरण पौधों के ऊपर पढ़ती हैं इस विधि में मिट्टी की आवश्यकता नहीं होती है इस तकनीकी के बारे में विशेष जानकारी के लिए क्लिक करें और देखें Aeroponics

केसर को हिंदी भाषा में केसर अंग्रेजी भाषा में Saffron और उर्दू भाषा में जाफरान के नाम से भी जाना जाता है इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए आपको काफी ज्यादा मेहनत करने की भी आवश्यकता पड़ती है क्योंकि इस व्यवसाय में टेंपरेचर को काफी ज्यादा मेंटेन करने की आवश्यकता होती है

एरोफोनिक विधि के द्वारा केसर की खेती में सफलता मिली जानकारी के अनुसार हरियाणा राज्य के Hisar मैं रहने वाले 2 किसानों ने मिलकर इस खेती का सफल परीक्षण किया इन दोनों किसान भाइयों का नाम नवीन और प्रवीण बताया गया इन दोनों किसान भाइयों ने काफी ज्यादा मेहनत करते हुए इस परीक्षण को शुरू की और सफलता भी प्राप्त की

हालांकि इस व्यवसाय में सफलता पाने के लिए यह किसान भाइयों में काफी ज्यादा मेहनत की इसके लिए वह कई बार कश्मीर भी गए और वहां से उत्तम क्वालिटी के केसर के बीज भी लाए और लगातार कई महीनों तक मेहनत करने के बाद उन्होंने व्यवसाय में सफलता भी हासिल की है

निष्कर्ष : हालांकि इस परीक्षण में मिले हुए निष्कर्ष के अनुसार यह बात साबित हो चुकी है किसकी खेती अन्य देशों में ही नहीं बल्कि भारत में भी काफी आसानी से की जा सकती है और यह भारत के लिए एक नया संदेश भी है आपकी इस बारे में क्या राय है कमेंट में जरूर बताएं धन्यवाद

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here