ब्रांड क्या है और ब्रांड कैसे बनाएं

हेलो दोस्तों मेरा नाम जानवी शंकर तिवारी है और आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की ब्रांड क्या है ब्रांड क्यों जरूरी है हर ब्रांड कैसे बनाने चाहिए तो चलिए जानते हैं ब्रांड क्या है और ब्रांड कैसे बनाएं के बारे में

Brand क्या है

ब्रांड कंपनी का सबसे बड़ा एसेट है अमेरिकन मार्केटिंग एसोसिएशन
के अनुसार ब्रांड एक नाम है टर्म है सिंबल है डिजाइन है या फिर
कॉन्बिनेशन है इसे अगर आसान भाषा में समझें तो ब्रांड एक नाम है
साइन है सिंबल है और इसका एक कॉन्बिनेशन है

Brand क्यों जरूरी है

ब्रांड आपकी किसी भी सामान्य सर्विस को आईडेंटिफाई करने में
आपकी मदद करता है साथ ही साथ यह दूसरे प्रतियोगियों से
आपको अलग करता है इससे आपके कंपनी का एक पहचान बनता
है और लोग जब आपकी किसी भी प्रोडक्ट को खरीदते हैं और उसको
इस्तेमाल करते हैं और उसका रिजल्ट अच्छा आता है तो लोग आपके
ब्रांड पर भरोसा करते हैं यानी आपकी कंपनी के ऊपर भरोसा करते हैं
इसलिए आप जो भी प्रोडक्ट या सर्विस प्रोवाइड करते हैं उसके लिए
जरूरी है कि आपका एक ब्रांड होना चाहिए

Brand बनाने के क्या-क्या फायदे हैं

जब आप अपने कंपनी के या फिर अपनी सर्विस के लिए अपनी कंपनी
का कोई एक ब्रांड बनाते हैं उसका कोई एक सिंबल बनाते हैं या फिर
उसका कोई लोगों बनाते हैं तो आपकी कंपनी के ऊपर जो लोगों का
भरोसा होता है वह तो होता ही है साथ ही साथ आप अपने ब्रांड को
लोगों को या फिर उसके साइन को यानी कि पूरा इसके कॉन्बिनेशन
को ट्रेडमार्क लॉ के अंतर्गत रजिस्टर भी करवा सकते हैं जिससे कोई
दूसरा आपके ब्रांड की कॉपी ना कर सके

अगर आपने अपने कंपनी के ब्रांड को या फिर उसके नाम को ट्रेडमार्क
लॉ के अंतर्गत रजिस्टर करवा लिया है और इसके बाद भी अगर कोई
आपके प्रोडक्ट का कॉपी करता है तो आप उसके खिलाफ लीगल
एक्शन भी ले सकते हैं लेकिन यहीं पर अगर आप इसको रजिस्टर नहीं
करवाते हैं तो आप किसी के खिलाफ कोई भी एक्शन नहीं ले सकते हैं

ब्रांड की पहचान क्या है

आप सोच रहे होंगे कि आखिर ब्रांड की बात तो हर कोई करता है
लेकिन इस ब्रांड की पहचान क्या है आप कभी भी मार्केट में जाते हैं
वहां से कोई सामान आप बिना ब्रांड का खरीद के लाते हैं और वहीं
पर आप एक ऐसा सामान खरीद के लाते हैं जो कि ब्रांड का है
सामान दोनों एक ही है आप दोनों को खोलते हैं और खोलने के
| बाद अगर दोनों को एक साथ रख दिया जाए तो आप खुद या नहीं
पहचान सकते हैं कि इसमें कौन से सामान के ऊपर ब्रांड है और
कौन सा बिना ब्रांड का है ब्रांड आपके प्रोडक्ट के अंदर नहीं दिखता है

Example

उदाहरण के लिए अगर आप एक फेवीकोल का डिब्बा ले लेते हैं और एक नॉर्मल फेवीकोल ले लेते हैं जो सेम फेविकोल के टाइप का ही दिखता है और उसके बाद अगर दोनों को आप डिब्बे से बाहर निकाल लेंगे तो आप यह नहीं पहचान सकते हैं कि इसमें बिना ब्रांड का कौन सा है मतलब की ब्रांड एक प्रोडक्ट की पहचान के लिए है ना कि उसके अंदर पैक किए हुए सामान के लिए लेकिन अगर आप का प्रोडक्ट अच्छा होता है तो लोगों को आपके ब्रांड के ऊपर भरोसा हो जाता है और लोग आपके उस प्रोडक्ट की डिमांड करते हैं

ब्रांड किसके लिए जरूरी है

हालांकि आप जब भी मार्केट से कोई सामान खरीदने जाते हैं तो आप यहां पर एक खास चीज ढूंढते हैं वह ब्रांड आप अगर एक मोबाइल फोन भी खरीदने जाते हैं तो आपके दिमाग में यह चीज सबसे पहले आती है कि हम कौन सी कंपनी का लेंगे आप जिस कंपनी का लेते हैं उसका एक लोगों भी होता है आप उससे उस कंपनी की पहचान करते हैं कि यह कौन सी कंपनी का है कहीं यह लोकल तो नहीं है अब बात आती है कि आखिर ब्रांड किसके लिए जरूरी होता है

ऑनलाइन या ऑफलाइन ब्रांड क्या है और ब्रांड कैसे बनाएं

आप कोई भी काम करते हैं आप चाहे ऑफलाइन करते हैं या ऑनलाइन करते हैं ब्रांड की बात अगर करें तो ब्रांड सबके लिए जरूरी है क्योंकि अगर ऑनलाइन ब्रांड की बात करें तो आप एक मार्केटिंग कंपनी चलाते हैं या फिर कोई यूट्यूब चैनल चलाते हैं या फिर कोई वेबसाइट चलाते हैं तो यहां पर आपसे सबसे पहले एक टाइटल पूछा जाता है वह टाइटल क्या होता है आपके वेबसाइट का या फिर आपके चैनल का 1 नाम होता है जो कि आपके चैनल का ब्रांड होता है या फिर आपके वेबसाइट का ब्रांड होता है उसी के हिसाब से आप अपने वेबसाइट का या फिर आप अपने चैनल का 1 लोगों बनाते हैं एक सिंबल बनाते हैं इसलिए आप जब भी कोई ऑनलाइन या ऑफलाइन काम करते हैं तो कोई आपके सामान से जाने या ना जाने लेकिन आपके नाम से जरूर जान जाता है

जैसे अगर आप कोई दुकान खोलते हैं तो उस दुकान के ऊपर भी आप एक नाम रखते हैं कि आपकी दुकान का क्या नाम है और जब भी लोग कोई सामान लेते हैं या फिर किसी दूसरे को आपके यहां से सामान लेने की सलाह देते हैं तो आप अपनी दुकान का जो नाम रखते हैं वह नाम सबसे पहले आता है कि उस दुकान से सामान ले करके आओ यानी कि जो आपकी दुकान का नाम है वह आपके दुकान का एक ब्रांड है इसलिए बहुत ही जरूरी है कि जब भी आप कोई ऑनलाइन या ऑफलाइन काम करते हैं तो आप उसका एक ब्रांड जरूर बनाना चहिए

ब्रांड कैसे बनाए

हालांकि यह एक बहुत ही अहम सवाल है कि हम खुद को एक ब्रांड कैसे बनाएं खुद को ब्रांड बनाने के 3 स्टेप हैं जिन स्टेप को अगर फॉलो करते हैं तो आप आसानी से अपना एक ब्रांड बिल्ड कर सकते हैं तो पहले यह समझ लेते हैं कि यह 3 पॉइंट क्या है किसी भी ब्रांड को बिल्ड करने के लिए
1 progress
2 Express
3 invest
यह तीन ऐसे पॉइंट है जिनको आप अगर समझ लेते हैं तो आपके लिए काफी आसानी हो जाती है अपना ब्रांड बनाने के लिए तो चलिए पहले इसको समझते हैं बहुत ही आसान भाषा में

Progress

अगर आप ही की स्टूडेंट है तो क्या आप किसी ऐसे टीचर से पढ़ना चाहेंगे जिसको किसी विषय के बारे में पता ही ना हो या फिर क्या आप ऐसे डॉक्टर से ट्रीटमेंट लेना चाहोगे जिसको जानकारी ही ना हो क्या आप ऐसे कुक से खाना बनवाना चाहोगे जिसको बनाना ही ना आता हो नहीं हालांकि आप इस आर्टिकल को भी इसी लिए पढ़ रहे हो कि आपको या विश्वास है कि यहां पर आपको ब्रांड के बारे में कुछ अच्छी जानकारी मिलेगी

चाहे कोई कंपनी हो या फिर कोई इंडिविजुअल हो एक ब्रांड को बनाने के लिए प्रोग्रेस बहुत ही जरूरी होता है क्योंकि लोग भरोसा तब करेंगे जब आप प्रोग्रेस करेंगे आपने कई बार देखा होगा कि डॉक्टर बहुत सारे होते हैं लेकिन नाम किसी एक का होता है वकील बहुत सारे होते हैं लेकिन नाम किसी एक का ही होता है उसी तरह से आप को अपना ब्रांड बनाने के लिए पहले प्रोग्रेस बहुत ही जरूरी है

Express

आपको अपने ब्रांड को बिल्ड करने के लिए लोगों के बीच में आना बहुत जरूरी है अगर आप लोगों तक पहुंचेंगे नहीं लोग आपको जानेंगे नहीं तो आप का ब्रांड बनेगा कैसे अगर मान लीजिए कि आपने एक ब्रांड बनाया लेकिन उसको लोगों तक नहीं पहुंचाया तो क्या वह ब्रांड एक ब्रांड रह जाएगा नहीं क्योंकि अपने ब्रांड को बिल्ड करने के लिए बहुत ही जरूरी है लोगों से मिलना लोगों तक अपनी पहुंच को बढ़ाना इसलिए आपको हमेशा लोगों के साथ एक्सप्रेस होना पड़ेगा लोगों के साथ मिलना पड़ेगा तब जाकर आपकी एक पहचान बनेगी इसलिए बहुत ही जरूरी है कि ब्रांड बनाने के लिए आपको अपने ब्रांड को लोगों के सामने लाना

Invest

अगर आपको अपने ब्रांड को अच्छी तरह से बिल्ड करना है तू इसके लिए आपको इन्वेस्ट करना भी जरूरी है कोई भी कंपनी अपने ब्रांड को बिल्ड करने के लिए लोगों तक पहुंचाने के लिए लोगों को याद रखने के लिए अपने ब्रांड के ऊपर कुछ ना कुछ पैसे इन्वेस्ट जरूर करती है इसलिए आपको अपने ब्रांड को लोगों के दिमाग में रखने के लिए आपको यहां पर कुछ पैसे भी इन्वेस्ट करना होगा क्योंकि जब तक आप इन्वेस्ट नहीं करेंगे लोगों को बार-बार वह दिखाई नहीं देगा तब तक लोग आपके ब्रांड को कैसे याद रखेंगे इसलिए जरूरी है कि आप जब अपने ब्रांड को लोगों तक पहुंचाते हैं तो उसके लिए आपको इन्वेस्ट करना जरूरी है आप यहां पर अपनी कमाई का 2 परसेंट या 5 परसेंट इन्वेस्ट कर सकते हैं जिससे कि आपका ब्रांड लोगों के सामने आए और लोग आपकी ब्रांड को याद रख सकें

निष्कर्ष

दोस्तों आज की इस पोस्ट में हमने समझा कि हमें अपने ब्रांड को बिल्ड करना क्यों जरूरी है और हम अपने ब्रांड को किस तरह से बिल्ड कर सकते हैं और अपने ब्रांड को बिल्ड करने के लिए यह जो तीन चीजें हैं इन तीन चीजों का उपयोग अगर आप अपने ब्रांड को बिल्ड करने के पहले हमेशा ध्यान देते हैं तो आपका ब्रांड जरूरी सक्सेसफुल होगा और लोगों के दिमाग में एक छाप छोड़ जाएगा जिससे लोग आपको याद रखेंगे दोस्तों उम्मीद है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें धन्यवाद.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *