ब्लॉग कैसे चालू करें

ब्लॉग कैसे चालू करें

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे blog tiwariproduction digital india में,
आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की ब्लॉग क्या है हम किस तरह से ब्लॉगिंग कर सकते हैं
ब्लॉगिंग करने की कौन कौन से प्लेटफार्म है और कौन सा प्लेटफार्म आपके लिए सबसे बेहतर है
और ब्लॉग किस तरह से लिखना चाहिए ब्लॉग लिखने के क्या-क्या फायदे हैं
तो चलिए हम जानते हैं कि ब्लॉग कैसे चालू करें

ब्लॉग किसे कहते हैं |ब्लॉग कैसे चालू करें

एक सफल ब्लॉगर बनने के लिए आपको हमेशा उसके शुरुआत से जानना जरूरी होता है
दोस्तों हम जब भी गूगल पर सर्च करते हैं ब्लॉग कैसे चालू करें तो सर्च करने के बाद
जो भी पोस्ट में दिखाई देती है वह पोस्ट ब्लॉग के अंदर आती है ब्लॉग कई प्रकार के हो सकते हैं
कई टॉपिक पर हो सकते हैं और कई तरह की कैटेगरी में हो सकते हैं जो भी चीजें आप गूगल पर सर्च करते हैं
वह सारी चीजें हमारे और आपके जैसे लोग ही गूगल पर डालते हैं जैसे कि जब कोई सर्च करता है
तो वह सारी पोस्ट आपके सामने आ जाती है और आपको जिस चीज की जरूरत होती है
आप जिस चीज को खोज रहे होते हैं वह चीजें आपको मिल जाते हैं

उदाहरण के लिए आप इस तरह से समझ सकते हैं कि जिस तरह आप एक किताब से
कोई भी चीज पढ़ते हैं तो आपको किताबें अपने साथ रखनी पड़ती है और
अपनी जरूरत के अनुसार उन किताबों को खोज कर वहां से आपको जानकारी प्राप्त करनी होती है
लेकिन यहां पर सारी चीजें ऑनलाइन होती है अगर आप बुक की बात करें
बुक के किसी पैराग्राफ की बात करें तो वह पैराग्राफ आपको
इंटरनेट पर अगर उपलब्ध मिलता है तो वह आर्टिकल ही ब्लॉग कहलाता है

ब्लॉग लिखना कैसे आरंभ करें

दोस्तों अगर आप ब्लॉग लिखना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले यह समझना जरूरी है
की ब्लाक में कौन-कौन सी चीजें जरूरी होती है और ब्लॉग कैसे लिखा जाता है
अपना एक ब्लॉगिंग का वेबसाइट चालू करने के लिए आपको सबसे पहले
शुरुआत से समझना होगा कि आप जो ब्लॉग का वेबसाइट बनाना चाहते हैं
उस वेबसाइट में आप किस टाइप के ब्लॉग लिखने वाले हैं सबसे पहले
आपको टाइप सेलेक्ट करना चाहिए एक अच्छा टाइप का ब्लॉग सोच लेते हैं

तो इसके बाद आपको कैटेगरी सोचना चाहिए आपको यह अच्छी तरह से समझ लेना चाहिए
कि आपका ब्लॉग किस कैटेगरी में आता है आपका ब्लॉग एजुकेशनल कैटेगरी में आता है
या फिर टेक की कैटेगरी में आता है या फिर भक्ति की कैटेगरी में आता है
अगर आप इन सारी चीजों को अच्छी तरह से समझ कर और उसके बाद आप
अपनी एक वेबसाइट तैयार करते हैं जिस पर आप ब्लॉग लिखने वाले हैं
तो आपने सफलतापूर्वक अपने वेबसाइट को सही तरीके से
चलाने के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी हासिल कर ली है

ब्लॉग कहां लिख सकते हैं

दोस्तों ब्लॉग लिखने के लिए बहुत लोगों को कन्फ्यूजन रहता है
कि हम अपने ब्लॉग का स्टार्टिंग कहां से करें यानी कि हम अपने ब्लॉग को कहां से लिखना चालू करें
और अपनी वेबसाइट को कहां पर बनाएं कौन से प्लेटफार्म पर बनाएं कौन सा प्लेटफार्म हमारे लिए सही है
और कौन सा प्लेटफार्म नहीं सही है दोस्तों वैसे तो आपको ब्लॉग लिखने के लिए बहुत सारे
ऐसे ही फ्री वेबसाइट मिल जाएंगी जहां पर आप काफी आसानी से बिल्कुल फ्री में अकाउंट
|बनाकर ब्लॉग लिखना आरंभ कर सकते अगर आप ब्लॉगिंग के बारे में नहीं जानते हैं
तो आपको एक फ्री ब्लॉग की वेबसाइट बनाकर शुरुआत करनी चाहिए
अगर आप बहुत सारे मूल जनों में नहीं पड़ना चाहते हैं

अगर आप यह सोचते हैं कि आपके सिर्फ पर्सनल जानकारी डालने पर ही
आपकी वेबसाइट बनकर तैयार हो जाए और आप आसानी से एक अच्छा खासा
ब्लॉग लिख सकें तो इसके लिए आप गूगल ब्लॉगर की साइट पर जाकर वहां से
अपना एक ब्लॉगिंग का वेबसाइट बना सकते हैं जो कि बिल्कुल फ्री होता है
और आपके यहां पर एक भी पैसे नहीं लगते हैं इसलिए यह एक बहुत ही आसान रास्ता है
जहां से आप आसानी से ब्लॉगिंग स्टार्ट कर सकते हैं ब्लॉग लिखने का दूसरा रास्ता है
वर्डप्रेस के द्वारा आप वर्डप्रेस के द्वारा भी अपनी एक साइड बनाकर वहां पर
काफी आसानी से अपना ब्लॉग लिखना आरंभ कर सकते हैं लेकिन यहां पर आपको
पैसे भी देने पड़ते हैं जिसकी कीमत लगभग 4000 से
₹5000 हो सकती है या फिर इससे ज्यादा भी हो सकती है

फ्री वेबसाइट निवेश वेबसाइट में अंतर

दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं कि ब्लॉगर एक फ्री वेबसाइट है तो इसके कुछ अपने फायदे और नुकसान भी होते हैं क्योंकि जब आप यहां पर वेबसाइट बनाते हैं तो यहां पर आपको अपना डोमेन बनाना होता है जिसमें आप अपना डोमन बनाते हैं तो वहां पर आपको डॉट कॉम के साथ-साथ ब्लॉग स्पॉट भी मिलता है जो कि आपके डोमेन के लिए एक माइनस पॉइंट हो सकता है

जैसे कि अगर आप कोई वेबसाइट बनाना चाहते हैं example.com तो यहां पर आपको मिलेगा example. Blogspot.com दूसरी बात यह कि अगर बाप की वेबसाइट भविष्य में ज्यादा बड़ी हो जाती है ज्यादा ट्रैफिक आने लगता है तो आप को मैनेज करने में थोड़ी बहुत समस्याएं हो सकती हैं क्योंकि यह फ्री वेबसाइट होती है और यहां पर सारी चीजें आपके कंट्रोल में नहीं होती हैं यहां पर आप सिर्फ अपने ब्लॉग को लिख सकते हैं अपने वेबसाइट को थोड़ा बहुत कस्टमाइज भी कर सकते हैं

निवेश वेबसाइट में अंतर

जिस तरह ब्लॉगर में आपको सारी चीजों का कंट्रोल आपके पास नहीं होता है उसकी बिल्कुल उल्टे ही यहां पर आपको सारी चीजें अपने कंट्रोल में ही करने पड़ते हैं यहां पर आप काफी है अच्छी तरह से अपने थीम का कस्टमाइजेशन कर सकते हैं आप एक नॉर्मल डोमिन ले सकते हैं लेकिन इसके भी कुछ माइनस पॉइंट होते हैं अगर आप यहां पर वेबसाइट बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको सबसे पहले एक डोमेन खरीदना पड़ता है

साथ ही साथ आपको होस्टिंग प्लान भी खरीदना पड़ता है क्योंकि जिस तरह से यहां पर कस्टम प्लान मिलता है उसी तरह से आपको सारी चीजें कस्टम ही करनी पड़ती है आप जब यहां पर डोमेन और होस्टिंग खरीद लेते हैं तब आपको वर्डप्रेस इंस्टॉल करना होता है और उसके बाद से अपनी वेबसाइट की कैटेगरी और सरवर सेट करने के बाद आप अपने सीपैनल में पहुंचते हैं और उसके बाद आप अपनी वेबसाइट को मैनेज कर सकते हैं

डोमेन नेम क्या है

जिस तरह से आप www.example.com सर्च करते हैं तो इसमें आपका यू आर यल ही डोमेन नेम कहलाता है, जहां आपको ब्लॉगर में डोमेन नेम सिर्फ अपनी मर्जी के मुताबिक डालना होता है यहीं पर आपको वर्डप्रेस के लिए सबसे पहले डोमेन नेम खरीदना होता है डोमेन नेम खरीदने के लिए आप चाहे तो गोडैडी namecheap और होस्टिंगर जैसी वेबसाइट से डोमेन नेम खरीद सकते हैं इसके बाद अगर आप कस्टम डोमेन अपने ब्लॉगर में भी डालना चाहते हैं तो इस डोमेन नेम का उपयोग आप दोनों तरह की वेबसाइट में कर सकते हैं

होस्टिंग किसे कहते हैं

अगर आप ब्लॉगर की वेबसाइट पर ब्लॉग बनाते हैं तो यहां पर आपको ना ही डोमेन नेम खरीदने की जरूरत होती है ना ही कोई होस्टिंग प्लान लेने की जरूरत होती है लेकिन आप वर्डप्रेस पर काम करते हैं तो इसके लिए आपको डोमेन नेम खरीदने के साथ ही साथ होस्टिंग प्लान भी खरीदना पड़ता है जिस तरह से आप जब घर बनाना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले जमीन खरीदनी होती है और उसके बाद आपको घर बनवाना होता है लेकिन अगर ब्लॉगर की बात करें तो यहां पर आपको जमीन यानी की होस्टिंग लेने की कोई जरूरत नहीं पड़ती है आप यूं समझ लीजिए कि आपको होस्टिंग फ्री में गूगल प्रोवाइड करता है

लेकिन यहीं पर जब आप वर्डप्रेस पर वेबसाइट बनाने के लिए होस्टिंग लेते हैं तो आपको जिस तरह सेभाड़े के मकान में रेंट देना पड़ता है उसी तरह से आपको यहां पर काम करने के लिए जगह दे दी जाती है जिस पर कि आप अपनी वेबसाइट बनाते हैं जिसके लिए आप को हर महीने कुछ ना कुछ चार्ज देने पड़ते हैं लेकिन जब आप होस्टिंग प्लान लेते हैं तो आप चाहें तो मंथली या फिर एनुअल प्लान ले सकते हैं और जब तक आपके प्लान की वैलिडिटी रहती है तब तक आप काम कर सकते हैं लेकिन जैसे ही आपके प्लान की वैलिडिटी खत्म होती है आपको फिर से पैसे देने होते हैं और उसके बाद आप की वैलिडिटी फिर से बढ़ जाती है और आप कंटिन्यू काम कर सकते हैं यह चीजें डोमेन और होस्टिंग दोनों में लागू होती हैं

ब्लॉगिंग करने से क्या फायदे हैं

अगर आप एक राइटर है या फिर आपको लिखने का शौक है आप अपने एक्सपीरियंस को अपनी कहानी को लोगों के साथ शेयर करना चाहते हैं तो आप एक ब्लॉगिंग वेबसाइट शुरू कर सकते हैं और आसानी से लोगों तक अपनी जानकारी अपने एक्सपीरियंस को शेयर कर सकते हैं और लोगों की मदद भी कर सकते हैं बदले में आपको यहां पर ब्लॉग लिखने के लिए पैसे भी मिलते हैं अगर आप ब्लॉगिंग करके पैसे कमाना चाहते हैं तो आप आसानी से ब्लॉग लिख कर के पैसे भी कमा सकते हैं

निष्कर्ष

अगर आप ब्लॉगिंग शुरू करना चाहते हैं आप इस चीज को लेकर कि कंफ्यूज है कि ब्लॉग कैसे चालू करें आपको ब्लॉगिंग में शुरुआत करने के लिए वर्डप्रेस में जाना चाहिए या फिर ब्लॉगर में जाना चाहिए तो यह जानकारी आपके लिए काफी महत्वपूर्ण हो सकती है आपकी काफी मदद भी कर सकती है आपके फैसले को निर्णय लेने के लिए और आप काफी आसानी से चुन सकते हैं क्या वर्डप्रेस पर काम करना चाहते हैं या फिर ब्लॉगर पर उम्मीद है या जानकारी (ब्लॉग कैसे चालू करें) आपको पसंद आई होगी अगर आपका कोई सवाल है तो आप हमसे पूछ सकते हैं या फिर अगर आपकी कोई राय है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में दे सकते हैं धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *