हल्दी के चमत्कारी फायदे जानकर हैरान रह जाएंगे आप, सभी लोगों के लिए है रामबाण इलाज

हल्दी का उपयोग अक्सर घरों में मसाले के रूप में किया जाता है लेकिन कुछ हल्दी के चमत्कारी फायदे भी है जिन्हें जानकर आप वाकई में हैरान रह जाएंगे

हल्दी के चमत्कारी फायदे

आज हम बात करेंगे हल्दी के चमत्कारी फायदे के बारे में अगर हम फायदे की बात करें तो इसका फायदा जो है आप इसी से अंदाजा लगा सकते हो कि हमारे घरों में हमारी किचन के अंदर शायद ही कोई ऐसी किचन हो जिसके किचन में हल्दी ना हो यानी हल्दी हमारे लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद हैं और यही कारण है कि हम उसको मसाले के रूप में, हर सब्जी के अंदर या हर आपके घर में जो भी डिशज़ बनती है उसके अंदर जरूर यूज़ करते हैं।और हल्दी हमारी हेल्थ के लिए बहुत अच्छी है, हमारी इम्यून सिस्टम को बढ़ाती है। ये हमारे जो फेस का ग्लो होता है, सुंदरता है, उसको बढ़ाने में भी फायदा करती है

हल्दी-के-चमत्कारी-फायदे-1.webp

यही कारण है कि शायद हमारी शादी होती है, मैरिज होती है, उसमें भी कहते हैं जो पूरे शरीर के ऊपर जो हल्दी का लेप लगाया जाता है। उससे आपकी स्किन को ग्लो मिलता है उसकी ब्यूटी को भी बढ़ाती हैं। ये कुछ सरल बातें हुईं। लेकिन हल्दी जो है हमारे ह्यूमन सिस्टम के अंदर सदियों में बहुत सी बीमारियों से लड़ने में भी रक्षा करती है कुछ ऐसी कंडिशन्स होती हैं जहाँ गर्म हल्दी को यूज़ करते हैं?

आयुर्वेद के अंदर बहुत सारे ऐसे नुक्से मौजूद है जो हल्दी का उपयोग करने की सलाह देते हैं, आयुर्वेद के अंदर तो आपके पास रिकवरी होती है और होम्योपैथी के अंदर भी इसकी मेडिसिन आती है। हल्दी ट्रीटमेंट सिस्टम कहते हैं कुरकुमा लौंगा होम्योपैथिक मेडिसिन है जो हल्दी से बनी हुई है यानी हल्दी हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभकारी है और इसके अंदर बहुत से गुण है।

सभी बीमारियों के लिए खास है हल्दी के चमत्कारी फायदे

यह बहुत सी बीमारियों से भी बचाती है और अगर बिमारी हो जाती है, तो हमारी रिकवरी को पास कर देती है और अभी बहुत से लोग हैं जो हल्दी दूध को फ्री में उपयोग करना चाहते हैं और यह जानना चाहते हैं की उसका क्या क्या फायदा और किसको नहीं पीना चाहिए तो सबसे पहले तो समझने वाली बात ये है की जो हल्दी होती है उसकी तासीर गर्म होती है। इस चीज़ को आप समझें कि हल्दी आपके शरीर के अंदर गर्मी पैदा करती है।

इसकी तासीर गर्म है। ये भी बताएंगे कि इसको कैसे प्रीपेयर करना चाहिए। कौन सा टाइम है जीसको मतलब पूरे साल के अंदर हमारे यहाँ सर्दी है, गर्मी है, बरसात है तो किस सीज़न में इसको पीना हमारे लिए सबसे अच्छा रहता है और वो कौन कौन से लोग हैं? जिनको हल्दी दूध नहीं लेना चाहिए, उनके लिए नुकसानदायक भी हो सकता है।

अगर आप हल्दी दूध को।लेने की सोच रहे हैं तो दोस्तों सबसे पहले फायदे की बात करते हैं कि हल्दी जो होती है उसके अंदर केमिकल होते हैं, एक्स्ट्रा ऐक्सिडेंट होता है एक्स्ट्रा ऐक्सीडेंट कारण इसके अंदर क्या एंटी बैक्टीरियल, एंटी वायरल, एंटी सेप्टिक प्रॉपर्टीज़ है, जिससे क्या होता है की जीतने भी सीज़न। मौसमी बीमारियां हैं पर्टिकुलरली आप देखें कि हमारे घरों के अंदर है जैसे मैंने भी देखा, हम भी छोटे थे। अभी क्या करते है? दादी, मम्मी वगैरह जो क्या बोलेंगे?को खासी हो जाये, जो काम हो जाए, बुखार हो जाए वायरल जीसको बोलते हैं, वायरल फीवर हो जाये, गला खराब हो रहा है

तो ये जो सर्दी के टाइम में पर्टिकुलरली जो वाइरल और बैक्टीरियल जो प्रॉब्लम होती है, जिसमें खांसी, जुकाम और आपको गले से संबंधित तकलीफ होती है, उसके अंदर हल्दी दूध आपकी बहुत ज्यादा फायदा करता है, आपकी रिकवरी को पास कर देता है। तो आप समझ सकते हैं कि इस तरह की कोई भी बिमारी है जिसमें बैक्टिरीअल इन्फेक्शन या वायरल है, जिसमें आपको इस तरह की प्रॉब्लम आ रही है। तो हल्दी दूध बहुत ज्यादा फायदा करता है, गले में खराश को भी दूर करता है।

इसलिए यही कारण है कि इन दिनों हल्दी के दूध को काफी ज्यादा यूज़ किया जाता है क्योंकि अभी जो वायरल बीमारियां फैल रही है उसके अंदर भी यही सारे सिमटम्स आते हैं तो हल्दी दूध दोस्तों से बात करेंगे कि आपके आपकी रिकवरी को फास्ट कर देता है।

पाचन तंत्र के लिए हल्दी है लाभकारी

हल्दी दूध आपके डाइजेस्टिव सिस्टम पाचन तंत्र के लिए बहुत अच्छा ओवरऑल आपके हाजमे के लिए बहुत अच्छा करता है। आपका जो खाना पीना हैं आप जो भी खा रहे हो, पी रहे हो उसको ये डाइजेस्ट करने में मदद करता है और यही कारण है आप सिंपल शब्दों में समझ सकते हो। इसीलिए हमारे घरों में हमारे किचन के अंदर हर सब्जी के अंदर या कुछ भी खाना बनता है तो उसके मसाले में हल्दी जरूर डाली जाती है। क्यों?

क्योंकि आपके डाइजेस्टिव सिस्टम को इंस्टॉल करेंगे। आप जो भी खाओगे, आपके जो पाचन तंत्र है उसको इंस्टॉल करेगा और आपको जो है प्रोपरली डाइजेस्ट होगा जैसे पेट फूलना है अफारा, गैस बनती है, खाना खाने के बाद पेट फूला होता है। यह सारी प्रॉब्लम्स अगर है तो आपको हल्दी उसमें मदद करेगी

हड्डियों के लिए भी लाभकारी है हल्दी के चमत्कारी गुण

और इसीलिए जैसे मैंने बताया उसको मसाले में क्यों यूज़ करते है। बस उत्तर हमारा रूटीन में ध्यान नहीं जाता कि हमने हल्दी क्यों डाली? हम लोग हल्दी इसलिए डालते हैं और अगर आप हल्दी दूध भी ले रहे है तो नैचुरली इस तरह की अगर आपको शरीर में कई तरह की तकलीफ है तो हल्दी दूध आपकी उस में मदद करेगा। दोस्तों, हल्दी, दूध जो है या गोल्डन मिल्क बोले ये हमारी हड्डियों को बहुत मजबूती देता है। इसलिए अगर आपने देखा हो की आपके घरों में जरूर आपको सुनने को मिलेगा

आपकी मम्मी दादी वगैरह जो है पापा वगैरह बोलेंगे। अगर किसी को फ्रैक्चर हो गया या मान लीजिए किसी को चोट लगी है आप गिर गए आपको कोई इंजरी हो गई आपकी मांसपेशियों में सूजन आ गई स्वेलिंग आ गयी हड्डी टूट गई है फ्रैक्चर हो गया चाहे ऑपरेशन हो गया तो आपको बोलेंगे हल्दी वाला दूध दीजिए जल्दी फ्रैक्चर हुआ तो कहने का मतलब क्या है की जो हल्दी दूध है आपकी बोंस को मजबूत बनाता है

इससे आपकी हड्डियों को मजबूती मिलेंगी और वो लोग जिनको चोट लगी। और वो लोग जिनको ऑस्टियोपोरोसिस होने लगता है। इसके साथ ही हड्डियां कमजोर होते ही लगती है, गलने लगती है और ऑस्टियोपोरोसिस की प्रॉब्लम है तो भी आपको हल्दी दूध, ये गोल्डन मिल्क लेना चाहिए।

बोनस की मजबूती चाहिए तो भी आपको ये लेना चाहिए। साथ ही साथ अगर आपके मांसपेशियों में दर्द रहता है और आप हल्दी दूध का सेवन करते हैं तो यह आपके लिए चमत्कारी रूप से लाभ प्रदान करता है और आप इन सभी समस्याओं के लिए हल्दी दूध का उपयोग कर सकते हैं इन सारी कंडिशन्स में डेफिनिट्ली haldi dudh आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा।

शुगर लेवल को भी कंट्रोल करती है हल्दी

दोस्तों, यह आपकी डायबिटीज़ यानी शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद करता है। अगर आपको डायबिटीज हैं और गोल्डन मिल्क यानी हल्दी दूध लेने की सोच रहे हैं तो आप इसको ले सकते हैं। डेफिनिट्ली आपके लिए फायदेमंद है।लेकिन एक चीज़ जरूर ध्यान रखें कि वो लोग जिनका शुगर लेवल पहले से कम रहता है, उनको हल्दी दूध बहुत सोच समझकर लेना चाहिए क्योंकि हल्दी दूध डायबिटीज के मरीजों में शुगर लेवल को बहुत तेजी से कम करता है ।

ऐसे में उनका शुगर लेवल बहुत एकदम नीचे चला गया और उन्होंने ध्यान नहीं दिया। तो ऐसे लोगों के लिए यह काफी नुकसानदेह साबित हो सकता है अगर आपको डायबिटीज़ है तो आपको हमेशा अपना शुगर लेवल चेक करते रहना चाहिए। उसको आप रेग्युलर मॉनिटर करते रहना चाहिए क्योंकि अचानक शुगर लेवल काफी नीचे चला जाता है तो यह आपके लिए काफी ज्यादा समस्या खड़ी कर सकता है ये चीजें रेगुलर मॉनिटर होनी चाहिए।

मुहांसों के लिए लाभकारी है हल्दी के गुण

दोस्तों इसी के साथ में वो लोग जिनको कि चेहरे के मुंहासे वगैरह होते हैं, स्किन में ग्लो नहीं रहता। वो लोग भी हल्दी के दूध को ले सकते हैं चलिए जानते हैं कि हल्दी का दूध क्या करता है? हल्दी आपके फेस के कॉम्प्लेक्शन को सुधारना है ओवरऑल जो आपका स्किन का ग्लो है, चमक वगैरह उसको बढ़ाता है और चेहरे में सुंदरता भी लगता है। और यही कारण है कि शादियों के मौसम में लड़के और लड़की के शरीर पर हल्दी का लेप लगाया जाता है जिससे शरीर पर जो भी मृत कोशिकाएं होती हैं वह पूरी तरह से हट जाती हैं और आपके चेहरे की चमक बरकरार रहती है

वजन घटाने में भी मदद करती है हल्दी

हल्दी का दूध वेट लॉस में भी आपकी मदद करता है। अगर आप वजन कम करने की सोच रहे हैं तो भी आप हल्दी दूध को ले सकते हैं। इसी तरह से हल्दी का दूध कई तरह के घातक बीमारियां जैसे कैंसर के सेल्स को रोकने में भी मदद करता है अगर बॉडी में कई तरह के कैंसर ऑलरेडी डेवलप हो गया है तो उसमें भी गर्म गोल्डन मिल्क ले रहे हैं तो यह कैंसर सेल से फाइट करने में मदद करता है।

यानी हल्दी दूध हमारी कैंसर से बॉडी का फाइटिंग फोर्स को बढ़ाता है। कैंसर से हमारे शरीर की लड़ने की क्षमता बढ़ाता है। इसलिए अगर किसी तरह का कैंसर है और उसमें हम गोल्डन मिल्क लेने का सोच रहे है तो डेफिनेटली ले सकते है

याददाश्त बढ़ाने में मदद करते हैं हल्दी के गुण

हल्दी के गुण आपके लिए काफी हेल्पफुल है इसलिए आप देखोगे अक्सर इसको रात में पीने को कहते हैं यानि कि जो गोल्डन मिल्क होता है हल्दी का दूध है, ये क्या करता है? आपके माइंड के लिए भी ऐसे टॉनिक वर्क करता है ये आपकी में जो मेमोरी है, यादाश है, उसको बढ़ाता है और इसके अंदर एक केमिकल होता है जीसको बोलते हैसेरोटोनिन। वो क्या करता है की आपका जो स्ट्रेस लेवल है,

एनजीटी लेवल है, उसको घटाता है? डिप्रेशन को कम करता है, आपके मूड को अच्छा रखता है। यानी वो लोग जिनको तनाव रहता है इसलिए डिप्रेशन से इनको नींद कम आती है या कह सकते हैं जिनकी मेमोरी कम है। अगर इस तरह की कोई परेशानी से जूझ रहे हैं तो गोल्डन मिल्क आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा। आप इसको ले सकते हैं

महिलाओं के लिए भी काफी लाभकारी है हल्दी

लेडीज के अंदर भी ये जो हेल्थ होती है उसमें भी काफी हेल्पफुल है वो लेडीज इनको पर्टिकुलरली पीरियड के समय फ्लो कम आता है और दर्द ज्यादा रहता है एक 2 मिनट पे जिसमे डिसमेनोरिया कहते हैं। पेट दर्द तो साइंटिफिक डिसमेनोरिया डिसमेनोरिया है और पीरियड का फ्लो कम है तो उनके लिए भी हल्दी दूध काफी हेल्पफुल है

क्योंकि ये फ्लो को भी बढ़ाता है जॉन स्पेन के टाइम में लचक पैदा करता है तो बंडल जो पेन होता है उसके अंदर भी वहाँ मसल्स को थोड़ा सा रिलैक्स करता है और जो लेडीजओं की डिलिवरी प्रोसेस है उनके डिलिवरी के अंदर जो रिकवरी फेस होता है उसको भी फास्ट करता हैं। रिकवरी तेज होती है और उनके जो ब्रेस्ट मिल्क है उसको भी फायदा करता है। ब्रेस्ट मिल्क को बढ़ाता है तो वो लेडीज भी इसको ले सकती है।

हल्दी दूध कैसे बनाएं

हल्दी दूध कैसे बनाएं : नेचर ने हर चीज़ को एक टाइम में हमें दिया है तो हल्दी हमें कम मिलता है। प्राकृतिक रूप से हल्दी का उपयोग करने के लिए एक निर्धारित समय भी तय किया गया है हल्दी की तासीर गर्म होती है तो हल्दी को जो लेने का जो समय है वो विंटर या सर्दियाँ होती है प्राकृतिक रूप से क्योंकि इसकी तासीर गर्म है, आपकी बॉडी में ही पैदा करेगी, गर्मी पैदा करेगी।लेने का टाइम भी सर्दी होती है।

सर्दियों में हल्दी दूध का उपयोग : अगर आप दूध भी बना रहे हो बस तो है कि आप फ्रेश हल्दी बाजार से लेके आए और उसको छीन ले फिर उसको जो है आप अपना जो मिक्सी वगैरह है उसके अंदर आप उसको बिलकुल उसका पेस्ट बना लें और दूध गर्म कर लीजिए। उसके अंदर एक चम्मच हल्दी मिला दीजिए, उसको बॉयल कर लीजिये, दूध गर्म हो जाए तो उसके बाद उसको मिक्स कीजिए, थोड़ा सा उबाल लीजिये, उसका गोल्डन कलर आ जाता है इसलिए उसको गोल्डन मिल्क कहते हैं और जब ये थोड़ा ठंडा हो जाए तो आप अपनी जरूरत के अनुसार चीनी या शहद का उपयोग कर सकते हैं

अगर आप चीनी मिलाना चाहते है तो जब दूध थोड़ा गर्म हो जाए आपने हल्दी ऐड कर लिया उसके बाद आप मिला सकते हैं और अगर आप शहद मिला रहे हैं जो कि ज्यादा अच्छा रहता है तो उसके लिए ध्यान रखना है कि दूध गर्म हो तब नहीं मिलाना है। दूध जब आपका गर्म था और जब वापस ठंडा होने लग जाए और जब ऑलमोस्ट थोड़ा सा ठंडा है, पीने लायक है उस टाइम उसमें शहद मिलाते है। शहद को कभी भी गर्म दूध में नहीं मिलाना है ये ध्यान रखें वो आपके लिए नुकसानदायक होता है। शहद तब मिलाएं जब दूध ठंडा हो जाए। पीने लायक उस टाइम आपको शहद मिलना चाहिए

गर्मियों में हल्दी दूध का उपयोग : अगर आपको मान लीजिए हेल्थ से रिलेटेड है, गले में खरास है, कोई इन्फेक्शन सा लग रहा है, डिस्कम्फर्ट हो रहा है, खांसी जुकाम हो गया है, जॉइंट पेन के लिए ले रहे हैं या बाकी चीजों के लिए आप ले रहे हैं, बस सर्दी के अलावा जब बाकी सीज़न में ले रहे हैं तो उस टाइम पे सर्दी नहीं है तो आपको उस टाइम कैसे ले जो एक अच्छा हल्दी पाउडर होता है उसको यूज़ कर सकते हैं और एक ग्लास जो दूध है उसके अंदर एक छोटा चम्मच जो है आप हल्दीमिक्स कर सकते हैं। उसी तरह से आप गर्म कर लीजिए। उसके बाद थोड़ा हल्दी एक चम्मच मिला दीजिए।

एक ग्लास दूध के लिए छोटे वाला चम्मच और फिर उसको बॉईल कर लीजिए। नीचे उतार दे जब यह अच्छी तरह से देख ले की हल्दी दूध पीने लायक है उस टाइम उसमें शहद मिला सकते हैं या आप चीनी मिल के और अपने टेस्ट के अनुसार ले सकते है। दोस्तों ये तरीका हो गया और अब हम बात करेंगे दोस्तों किस किस को नहीं लेना चाहिए।

हल्दी दूध का उपयोग किसे नहीं करना चाहिए?

हल्दी दूध किसे नहीं लेना चाहिए : बहुत से लोगों को यह लगता है कि हल्दी दूध सभी के लिए लाभकारी होता है लेकिन बहुत से लोगों को नहीं पीना चाहिए। कई लोग अगर इसको पीते हैं तो उनके लिए जानलेवा भी क्योंकि बहुत जरूरी हो जाता है कि हल्दी पी रहे हैं लेकिन बहुत से लोगों को नहीं पीना चाहिए। कई लोग अगर इसको पीते हैं तो उनके लिए जानलेवा भी हो सकता है।

अगर आप हल्दी पीने का एक बार सोच रहे है तो अगर मैं रूटीन में बात की जाए तो वो लोग जिनको की कोई भी तरह की ब्लड प्रेशर या हार्ट से रिलेटिड प्रॉब्लम है। उनको हल्दी का दूध बिना डॉक्टर से सलाह लिए हल्दी बिल्कुल भी नहीं लेना है। उनके लिए जानलेवा साबित हो सकता है।

दूसरे वो लोग जिनको खून पतला करने की दवा चल रही है, जैसे स्क्रीन वगैरह हो गयी।उनको नहीं लेना चाहिए। क्योंकि हल्दी ब्लड को पतला कर देती है दोस्तों इसी तरह से वो लोग जिनको की कोई तरह की डायबिटीज़ की दवा चल रही है या शुगर लेवल कम रहता है, फ्लक्चूएट होता है, उनको भी बहुत सोच समझ के लोग से डिस्कस करके लेना है

क्योंकि शुगर लेवल को कम करती है तो ऑलरेडी जिनका शुगर लेवल कम है उनके लिए तो रिस्की है और जिनका शुगर ज्यादा है वो इसको ले सकते हैं शुगर कम करने के लिए, लेकिन उसके अंदर देखेंगे शुगर लेवल को मॉनिटर जरूर करते हैं और एक बार अपने डॉक्टर से जरूर आप डिस्कस कर ले।

हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करें

इस तरह से कई तरह की बिल्डिंग प्रॉब्लम नहीं है जैसे आपको नकली नाक से जो ब्लीडिंग हो जाती है। लेडीज इनको है वीमेनस जाते हैं, जिनका पीरियड का फ्लो बहुत ज्यादा है। उनको हल्दी लेने से बचना चाहिए क्योंकि आपके बिल्डिंग को बढ़ा देती है। ये खून को पतला कर दिये तो आपका बिल्डिंग टाइम पीरियड बढ़ेगा जो आपके लिए तकलीफ हो सकता है।

इसी तरह से वो ऑलरेडी जिनको प्रेगनेंसी चल रही है तो गर्भवती महिला को नहीं लेना चाहिए, और वो लोग जिनको की कोई तरह के लिवर की प्रॉब्लम है जैसे किसी को पीलिया हो रखा है तो उसके अंदर हल्दी से आपको बचना है।

इसी तरह से वो लोग जिनको गाल स्टोन है या किडनी स्टोन वगैरह है तो उनको भी हल्दी, दूध वगैरह या एक्स्ट्रा हल्दी किसी भी फॉर्म लेने से बचना चाहिए। एक बार डॉक्टर से जरूर डिस्कस कर लेना चाहिए।यानी कोई भी तरह की मेडिकल कंडिशन है। एक बार आपको जरूर अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लेनी चाहिए कि गोल्डन मिल्क लेना है या नहीं

निष्कर्ष : तो ये हमने बात की हल्दी दूध के क्या क्या फायदा है, क्या सावधानियां हैं, जिनको कि हमें आजमाना चाहिए, किसको नहीं पीना चाहिए। कौन सा बेस्ट टाइम है जिससे हम इसको पी सकते हैं? तो इसके अलावा जैसे रूटीन हमेशा बात करते हैं कि अगर आपको कोई भी बिमारी है तो आपको हल्दी दूध का उपयोग करना चाहिए या नहीं उम्मीद है यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी अगर जानकारी अच्छी लगी तो अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ भी शेयर करें धन्यवाद

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here