Aloe Vera Farming Business : एलोवेरा की खेती का व्यवसाय

aloe vera farming, एलोवेरा की खेती का व्यवसाय करके हर महीने लाखों का मुनाफा प्राप्त किया जा सकता है एलोवेरा के व्यवसाय में 2 तरीकों से मुनाफा प्राप्त किया जा सकता है आज की इस पोस्ट में हम यही समझेंगे की एलो वेरा फार्मिंग व्यवसाय को शुरू करने के लिए वह कौन से दो तरीके हैं और एलोवेरा की खेती का व्यवसाय शुरू करने के लिए एलोवेरा की कौन-कौन सी प्रजातियां हैं और एलोवेरा के व्यवसाय को शुरू करने के लिए कैसी जगह की आवश्यकता होती है और इसे कहां से खरीदा जा सकता है और कहां पर बेचा जा सकता है तो चलिए जानते हैं एलोवेरा की खेती का व्यवसाय कैसे शुरू करें

Aloe-Vera-Farming.webp

Aloe Vera Farming Business : एलोवेरा की खेती के फायदे

  • एलोवेरा का व्यवसाय दो प्रकार से शुरू किया जा सकता है पहला एलोवेरा की खेती के द्वारा और दूसरा जूस या पाउडर बनाने की मशीन के द्वारा
  • एलोवेरा का उपयोग दवाइयां बनाने व कॉस्मेटिक पदार्थ में किया जाता है
  • इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए बहुत ही कम लागत की आवश्यकता होती है
  • इस व्यवसाय में लागत के मुकाबले मुनाफा अधिक होता है
  • Aloe vera farming बिजनेस या एलोवेरा की खेती किसी भी मौसम में उपयुक्त होती है
  • एलोवेरा की खेती में एक बार रोपाई करने पर 3 वर्ष तक इससे फसल को प्राप्त किया जा सकता है

एलोवेरा एक प्रकार का पौधा है यह प्राकृतिक होने के साथ-साथ अपने गुणों के द्वारा भी विशेष स्थान प्राप्त करता है एलोवेरा में कई प्रकार के गुण होते हैं एलोवेरा विशेषकर अपनी एंटीबायोटिक गुणों के द्वारा जाना जाता है एलोवेरा में विटामिन और खनिज भी भरपूर मात्रा में पाई जाती है साथ ही साथ इसमें एंटीबायोटिक गुड़ के साथ साथ एंटीफंगल गुण भी पाया जाता है एलोवेरा का उपयोग सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि अन्य देशों में अलग-अलग कार्य में किया जाता है

एलोवेरा की खेती में उपयोग की जाने वाली एलोवेरा की किस्में

एलोवेरा की खेती में उपयोग की जाने वाली बहुत सारी ऐसी प्रजातियां हैं जिनके अलग-अलग गुण होने के कारण अलग-अलग कार्यों में उपयोग किया जाता है एलोवेरा की खेती में उपयोग की जाने वाली एलोवेरा की मुख्य प्रजातियां इस प्रकार से हैं

  • aloe chinensis (चीनेंसिस)
  • aloe abyssinica (एलोय अब्यस्सिनिका)
  • aloe littoralis (एलोय लित्तोरालिस)

भारत में खेती के रूप में इन तीन प्रजातियों का उपयोग मुख्य रूप में किया जाता है और यह प्रजातियां भारत में सबसे ज्यादा लोकप्रिय भी हैं हालांकि इससे उच्च प्रजातियां भी भारत में मौजूद है जिनके अलग-अलग मॉडल है जैसे कि – IEC 111271,IEC 1112269,AAAL1.

एलोवेरा की खेती कैसे करें एलोवेरा की खेती का व्यवसाय शुरू करना बहुत ही आसान है अगर एलोवेरा की खेती के लिए मौसम की बात करें तो इसकी खेती के लिए वर्षा ऋतु ज्यादा उत्तम मानी जाती है हालांकि इसकी खेती करने के लिए नमी वाले स्थान ज्यादा उत्तम रहते हैं लेकिन ऐसा भी नहीं है कि अगर आपके पास नमी वाले स्थान नहीं है तो आप खेती नहीं कर सकते आप एलोवेरा की खेती की शुरुआत शुष्क स्थान पर भी कर सकते हैं इसके लिए थोड़ी ज्यादा मेहनत की आवश्यकता होती है

 एलोवेरा-की-खेती-का-व्यवसाय.webp

एलोवेरा की खेती करते समय जगह का चुनाव इस व्यवसाय की शुरुआत करने के लिए एक बात का हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि जिस स्थान पर आप इस व्यवसाय को शुरू करने जा रहे हैं नमी युक्त होना चाहिए लेकिन उस जगह पर पानी का जमाव नहीं होना चाहिए इसलिए जब भी इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए जगह का चुनाव करते हैं तो जगह को अन्य क्षेत्रों से थोड़ा ऊंचे स्थान पर चुनाव करें क्योंकि जलजमाव के कारण पौधों को क्षति पहुंच सकती है

Aloe Vera Farming Business equipment|एलोवेरा व्यवसाय के लिए सामग्री

  • लगभग एक हेक्टेयर भूमि
  • भूमि पर नमीं बनाए रखने के लिए जल का श्रोत (आवश्यकता के आधार पर)
  • खाद सामग्री (फास्फोरस, यूरिया, पोटाश, गोबर की खाद)
  • जुताई की व्यवस्था
  • रोपण के लिए एलोवेरा के पौधे

एलोवेरा की खेती कैसे कैसे की जाती है एलोवेरा की खेती करने के लिए सबसे पहले किसी नमी वाले स्थान का चुनाव किया जाता है 1 हेक्टेयर भूमि में एलोवेरा की खेती करने के लिए सबसे पहले खेत का जुताई किया जाता है इसके बाद गोबर की खाद 10 किलो, पोटाश 33 किलोग्राम, फास्फोरस डेढ़ सौ किलोग्राम , यूरिया 120 किलोग्राम. इन सभी को अच्छी तरह से मिलाकर इसका छिड़काव खेतों में किया जाता है खेतों में खाद का छिड़काव करने के बाद खेत में खाद को अच्छी तरह मिलाने के लिए एक बार और खेत की जुताई की जाती है जुताई करने के बाद खेतों में क्यारियां बनाकर एलोवेरा के छोटे पौधों की रोपाई की जाती है पौधों की रोपाई करने के बाद हल्के पानी से इनकी सिंचाई भी की जाती है

हालांकि एलोवेरा के पौधों की रोपाई करते समय क्यारियों के बीच कम से कम 50 सेंटीमीटर की दूरी रखनी चाहिए एलोवेरा की खेती करने के लिए सबसे उत्तम समय फरवरी और मार्च का महीना होता है लेकिन एलोवेरा की खेती पूरे साल भर की जा सकती है एलोवेरा की खेती करने के लिए एक हेक्टेयर जमीन में लगभग 10000 पौधों की रोपाई की जा सकती है

एलोवेरा के पौधों की कटाई एक बार एलोवेरा के पौधों की रोपाई करने के बाद इसकी फसल लगभग 8 से 10 महीने में तैयार हो जाती है जिसके बाद इसकी कटाई की जा सकती है और कटाई करने के बाद इसके पैदावार में वृद्धि भी होने लगती है

एलोवेरा का उत्पादन एक हेक्टेयर जमीन में अगर 10000 पौधों का रोपण किया जाता है तो पहले बाहर की फसल की कटाई में लगभग 50% तक का मुनाफा प्राप्त किया जा सकता है और पहली कटाई के बाद इसकी पैदावार में वृद्धि होने के कारण दूसरी तीसरी कटाई में 15 से 20% तक का अधिक लाभ प्राप्त किया जा सकता है

aloe vera farming investment | एलोवेरा के व्यवसाय में लागत

एलोवेरा-की-खेती.webp

एलोवेरा के व्यवसाय में लगने वाली लागत के बारे में निश्चित तौर पर कोई बात नहीं कही जा सकती हैं क्योंकि यह निर्भर करता है आपके भूमि के ऊपर और पौधों की संख्या के ऊपर लेकिन एक अनुमान के मुताबिक इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए लगभग 50000 की आवश्यकता होती है जिससे हम आसानी से इस व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं

aloe vera farming business profit | एलोवेरा के व्यवसाय में लाभ

हालांकि अगर इस व्यवसाय में मुनाफा की बात की जाए तो इस व्यवसाय को शुरू करने वाली लागत के मुकाबले आप सिर्फ 50000 से 60,000 खर्च करके आसानी से 5 पांच से छह लाख का मुनाफा प्राप्त कर सकते हैं

एलोवेरा जेल व्यवसाय जैसा कि हम पहले भी समझ चुके हैं की एलोवेरा के व्यवसाय में एलोवेरा जूस व्यवसाय या एलोवेरा जेल व्यवसाय शुरू कर सकते हैं एलोवेरा जेल का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो आप खुद का एलोवेरा जेल का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं इसके लिए सबसे पहले हमें यह जानना होगा की एलोवेरा जेल कैसे बनाया जाता है तो चलिए जानते हैं

एलोवेरा जेल कैसे बनाएं एलोवेरा की एक तंदुरुस्त पौधे की पत्तियों के बंडल से लगभग 400 मिली लीटर एलोवेरा जेल बनाया जा सकता है एलोवेरा जेल बनाने के लिए सबसे पहले एलोवेरा की पत्तियों के ऊपर के छिलके को निकाल लें ऊपर के छिलके को निकालकर इसे मशीन में डालकर इसे अच्छी तरह मिला लें अगर यह जेल ज्यादा गाढ़ा होता है तो इसमें आवश्यकता अनुसार पानी भी मिला सकते हैं और इसे बाजारों में भी बेच सकते हैं या फिर जो कंपनी आपसे एलोवेरा जेल की डिमांड करती है आप वहां पर एलोवेरा जेल सप्लाई कर सकते हैं हालांकि अगर आप एलोवेरा की खेती के साथ एलोवेरा जेल का व्यवसाय करते हैं तो आप काफी ज्यादा मुनाफा प्राप्त कर सकते हैं

Aloe Vera Gel business कैसे शुरू करें- एलोवेरा जेल व्यवसाय शुरू करने के लिए कम से कम 1000 स्क्वायर फीट जगह की आवश्यकता होती है साथ ही साथ जरूरत होती है आपको एलोवेरा जेल मशीन की जिसके अंदर एलोवेरा जेल तैयार किया जाता है आप एलोवेरा जेल मशीन को ऑनलाइन खरीद सकते हैं जिस जगह पर एलोवेरा जेल का व्यवसाय शुरू कर रहे हैं उस जगह पर बिजली की भी उचित व्यवस्था होनी चाहिए एलोवेरा जेल मशीन दो प्रकार की आती हैं जो कि मैनुअल एलोवेरा मशीन और ऑटोमेटिक एलोवेरा मशीन के नाम से जानी जाती है अगर आप इस मशीन के बारे में अधिक जानकारी चाहते हैं तो इस लिंक पर क्लिक करें Aloe Vera Machine Juice Extracting

हालांकि अगर आप इस व्यवसाय को शुरू करना चाहते हैं तो पहले आप अपने आसपास के क्षेत्र को अच्छी तरह से देख ले और वहां पर एलोवेरा जेल या एलोवेरा जूस की डिमांड को देख ले साथ ही साथ अगर आपके आसपास कोई कंपनी है या कोई इंडस्ट्रीज है जहां पर एलोवेरा जूस की जरूरत होती है इसके बाद ही आप इस व्यवसाय को शुरू करें हालांकि अगर आप एलोवेरा की खेती करना चाहते हैं तो आप इसे आसानी से शुरू कर सकते हैं

निष्कर्ष

आज के इस पोस्ट में हमने समझा एलोवेरा की खेती और एलोवेरा जूस के व्यवसाय के बारे में उम्मीद है यह सारी जानकारी आपको समझ में आ रही होगी अगर पोस्ट अच्छी लगी तो दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ भी शेयर करें धन्यवाद

इसे भी पढ़ें :- नींबू घास की खेती का व्यवसाय कैसे शुरू करें

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here