Business full form (व्यापार पूर्ण प्रपत्र)

हेलो दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे Business full form
(व्यापार पूर्ण प्रपत्र) के बारे में | और जानेंगे कि बिजनेस (व्यापार)
का मतलब क्या होता है, इसकी वैल्यू क्या है, और इसका मुख्य
स्रोत क्या है | तो चलिए जानते हैं, Business full form (व्यापार पूर्ण प्रपत्र) के बारे में |

Full form of business

हालांकि जब हम स्टडी कर रहे होते हैं, तो हमें कई बार
Business (व्यापार) के बारे में, सुनने और पढ़ने को भी
मिलता है | लेकिन फिर भी बहुत सारी जानकारी होने के
बावजूद, कई सारे ऐसे बेसिक क्वेश्चन होते हैं जिनके बारे
में हमें पता नहीं चल पाता है | या फिर उसके बारे में कभी
बात ही नहीं की जाती है, जैसे कि बिजनेस क्या है, बिजनेस
किन चीजों से मिलकर बनता है, बिजनेस कल मुख्य शाखा
क्या है, और सबसे बड़ा प्रश्न तो यह है, कि बिजनेस का फुल
फॉर्म क्या होता है | तो सबसे पहले यह जान लेते हैं
कि बिजनेस का फुल फॉर्म क्या होता है |

Business full form

जैसा कि आप जानते हैं कि बिजनेस मुख्यतः 8 शब्दों से
मिलकर बना हुआ है | लेकिन इन 8 शब्दों के आठ
अलग-अलग मतलब भी होते हैं | जिनकी अलग-अलग
परिभाषाएं भी होती हैं | तो चलिए सबसे पहले यह समझ
लेते हैं कि Business का full form क्या होता है |

Business full form (व्यापार पूर्ण प्रपत्र)
• B – best (अच्छा) • U – upcoming (आगामी आने वाला)
• S – startup (शुरुआत) चालू करना • I – inventing (आविष्कार)
उत्पादन • N – not (नहीं) • E – effected (प्रभाव) • S
– Society (समाज) • S – success (सफलता)

Business-full-form.webp
Business full form

Business full form दोस्तों जैसा कि आपने यहां पर देखा, कि business
कुल मिलाकर 8 शब्दों से बना है | और इन 8 शब्दों के
अलग-अलग मतलब होते हैं, और इनके 8 अर्थ भी होते हैं |
इन आठ अर्थों के आधार पर, जब आप सामाजिक नौकरी के
दायरे से बाहर निकलते हैं, जब आप खुद कुछ अच्छा करने
के बारे में सोचते हैं, अपने दम पर कुछ करना चाहते हैं,
तो आपकी मन में Business (व्यापार) करने के बारे
में अच्छे विचार आते हैं |

जो विचार आपके जीवन में आने वाले समय को परिवर्तित
कर सकते हैं | या जब आप इन विचारों के ऊपर काम करने
के बारे में, starting करते हैं तो, इसे हम start-up या
शुरुआत कहते हैं | और जब आप अपने इन startup
(शुरुआत) को चालू करते हैं, या फिर चालू करने के बारे
में प्लानिंग करते हैं, आप जिसने काम को जिस जगह पर
करने जा रहे हैं, तो वह काम वहां के लिए एक inventing (आविष्कार) होता है |

Business ka full form

Business full form – हालांकि जब भी आप किसी अच्छी स्टार्टअप की
शुरुआत करते हैं, आने वाले समय के लिए | तो आने
वाले समय में इस आविष्कार का प्रभाव समाज के ऊपर
भी दिखाई देता है | और कुछ नए बदलाव भी होते हैं |
और अगर आप एक अच्छा आविष्कार करते हैं, तो इसमें
आपको success (सफलता) भी मिलती है | जिसे आप अपने
बिजनेस की सफलता समझ सकते हैं | लेकिन इस सफलता
का प्रभाव समाज और आपकी व्यापार के ऊपर नहीं पड़ता है |

Business kya hai

Business full form दोस्तों हम business को कई नामों से जानते हैं, या फिर
कई नामों से पुकारते हैं | लेकिन कई लोगों को यह समझ
में नहीं आता है कि, बिजनेस क्या होता है | तो आपकी जानकारी
के लिए हम बता दें कि, किसी भी प्रकार का लेन देन जिसमें
किसी भी प्रकार की profit हो (फायदा हो) उसे हम business
(व्यापार) कह सकते हैं | वास्तव में बिजनेस का महत्व हमारी
जिंदगी में जीवन यापन करने के लिए, या फिर सामाजिक जीवन
को बढ़ावा देने के लिए, उपयोग किया जाता है | जिसमें खुद का
फायदा होने के साथ-साथ, सामाजिक भलाई भी होती है,
और एक नया आविष्कार भी होता है |

business (व्यापार) कई प्रकार के हो सकते हैं,
जैसे कि कोई बड़ी कपड़े की फैक्ट्री, या फिर कोई
छोटी किराने की दुकान, या फिर किसी सब्जी की दुकान,
या फिर जो भी ऐसी चीजें जिनसे आप थोड़ा सा मुनाफा
अर्जित करके, दूसरों की भलाई करने का काम करते हैं |
वह सारी चीजें बिजनेस में आती हैं |

Branch of business

Business full form हालांकि यह एक बहुत ही कॉमन सा क्वेश्चन है,
जिसका पता हर उस व्यक्ति को होना चाहिए, जो
भी business (व्यापार) करता है | लेकिन अक्सर कई
बार यह देखा जाता है, कि कई सारे लोगों को इस बात
के बारे में जानकारी ही नहीं होती है | क्योंकि वह बिजनेस
तो कर रहे हैं, लेकिन अगर उनसे यह पूछा जाए कि,
बिजनेस का मुख्य स्रोत क्या है? या फिर बिजनेस की
मुख्य शाखा क्या है? तो यहां पर लोग कई बार कंफ्यूज हो
जाते हैं, की बिजनेस की मुख्य शाखा क्या है |

तो आपकी जानकारी के लिए हम बता दें, की बिजनेस की
मुख्य शाखा है कॉमर्स, वाणिज्य | इसके कई सारे नाम हो
सकते है, क्योंकि इसे अलग-अलग जगहों पर अलग अलग

नाम से जाना जाता है | लेकिन जहां पर भी लेन-देन की बात
आती है, वहां पर हम उस लेनदेन को business (व्यापार)
की दृष्टि से देखते हैं | क्योंकि व्यापार का मुख्य काम ही लेन-देन
का होता है | और इस लेन-देन में व्यापारियों के अपने मुनाफे भी होते हैं |

main branch of business

Business full form अब यहां पर सबसे बड़ा प्रश्न नहीं आता है की Commerce
बिजनेस की ब्रांच कैसे है? तो यहां पर ध्यान देने वाली बात
यह है, की कॉमर्स और बिजनेस एक जैसे मिलते जुलते शब्द हैं |
और दोनों का उपयोग भी एक साथ किया जाता है | लेकिन फिर
भी दोनों के मतलब अलग-अलग होते हैं | हर एक बिजनेस का
मुख्य मकसद होता है, फायदा इकट्ठा करना | लेकिन वह इस
फायदे को किसके माध्यम से अर्जित करता है,
तो इसका जवाब है कॉमर्स के माध्यम से |

Business full form अब अगर आपके मन में यह सवाल आ आ रहा है कि,
यह कैसे तो इसका जवाब यह है कि, कॉमर्स का काम
होता है क्रय विक्रय को तय करना | और बिजनेस का
मकसद होता है, फायदा अर्जित करना | और फायदा
तभी होगा जब क्रय और विक्रय होगा | तो हम अपने
व्यापार के अंदर क्रय और विक्रय के लिए कॉमर्स का
इस्तेमाल करते हैं | और इस तरह से कमर्स बिजनेस का मुख्य Branch शाखा होता है |

Conclusion

दोस्तों आज की इस पोस्ट में हमने समझा की Business full form क्या होता है, और बिजनेस की मुख्य शाखा क्या है, बिजनेस किसे कहते हैं, और बिजनेस किन किन शब्दों से मिलकर बना है, और इन शब्दों के अलग-अलग मतलब क्या होते हैं, इनका प्रभाव हमारे दैनिक जीवन पर किस तरह से पड़ता है | या फिर इनका प्रभाव हमारे बिजनेस के ऊपर पड़ता है, या नहीं पड़ता है | उम्मीद है यह पोस्ट आपको पसंद आई होगी, अगर यह पोस्ट आपको अच्छी लगी, तो अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें | धन्यवाद |

read also :- आयात निर्यात का व्यवसाय शुरू करें

Sharing Is Caring:

Leave a Comment