honey bee farming business plan मधुमक्खी पालन

honey bee farming business plan, के इस पोस्ट में हम जानेंगे की मधुमक्खी पालन व्यवसाय को कैसे शुरू करें | और मधुमक्खी पालन व्यवसाय से मुनाफा कैसे प्राप्त करें | तो चलिए जानते हैं मधुमक्खी पालन व्यवसाय के बारे में |

honey bee farming business plan in india

मधुमक्खी पालन का व्यवसाय एक ऐसा व्यवसाय है, जिसे कम जगह में और कम लागत में आसानी से शुरू किया जा सकता है. और कुछ ही सालों के अंदर इस व्यवसाय में काफी मुनाफा भी प्राप्त किया जा सकता है, मधुमक्खी पालन का व्यवसाय भारत के कई राज्यों में बहुत ही ज्यादा होता है, और यहां के मुख्य व्यवसाय के रूप में भी इसका उपयोग किया जाता है. हालांकि मधुमक्खियां खेती किसानी से जुड़े व्यवसाय में काफी मददगार भी होती हैं, क्योंकि यह परागण में भी मुख्य भूमिका निभाती हैं. इस व्यवसाय को शुरू करके कम लागत में, और कम पूंजी लगाकर ज्यादा मुनाफा भी प्राप्त किया जा सकता है |

मधुमक्खी पालन का व्यवसाय कहां शुरू करें

मधुमक्खी पालन का व्यवसाय शुरू करने के लिए एक ऐसी जगह की आवश्यकता होती है, जो कि शहर के भीड़-भाड़ वाले इलाके से बाहर हो, और यहां पर इतना शोर शराबा ना हो. और इस जगह का वातावरण प्राकृतिक होना चाहिए, जिससे की खुली हवा मिलती रहे, और जिस जगह पर आप इस व्यवसाय को शुरू कर रहे हैं, उस जगह के आसपास अधिकतम फूलों की संख्या हो, जिससे कि मधुमक्खियों को छत्ता बनाने के लिए, रस प्राप्त करने में कोई समस्या ना हो. हालांकि इसके लिए अगर आप खेती करते हैं, तो सरसों की खेती उत्तम होती है |

honey-bee-farming-business-plan.webp

हालांकि अगर आप मधुमक्खी पालन व्यवसाय के क्षेत्र में, सरकार के द्वारा मदद चाहते हैं, तो सरकार ने इसके लिए एक विभाग भी बनाया है जिसका नाम है msme. भारत सरकार के द्वारा खादी एंड विलेज इंडस्ट्रीज के तहत, कई सारी योजनाएं भी चलाई गई है. और इन योजनाओं के अंतर्गत, मधुमक्खी पालन व्यवसाय को काफी ज्यादा प्रोत्साहित किया जाता है |

k v i c honey bee farming business plan in india

इस संस्था के द्वारा bee farming व्यवसाय के लिए मधुमक्खी पालन बॉक्स भी उपलब्ध कराया जाता है. हालांकि इस संस्था के द्वारा मुहैया की गई सभी सुविधाओं का लाभ, ग्रामीण किसान और बेरोजगार युवक उठाते हैं, और मधुमक्खी पालन का व्यवसाय शुरू करके, अच्छा खासा लाभ प्राप्त करते हैं. हालांकि इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए, इस संस्था के द्वारा एक खास मिशन भी चलाया गया है. जिस मिशन का नाम है honey mission |

मधुमक्खी बॉक्स का उपयोग | honey box uses

मधुमक्खी के बॉक्स को गांव में अक्सर मधुमक्खी का छत्ता के नाम से भी जाना जाता है, मधुमक्खी बॉक्स में मधुमक्खी को 2 कालोनियों में रखा जाता है, इनमें पहले बॉक्स में अंडे और शहद दोनों को एक साथ रखा जाता है. और दूसरा भाग जो कि मधुमक्खी बॉक्स के अंदर ही होता है, इन दोनों बॉक्स के बीच में एक रोक पट लगा होता है, और इसी दूसरे बॉक्स में एक तरफ रानी मधुमक्खी अंडे देती है, और दूसरी तरफ श्रमिक मधुमक्खी शहद बनाती है |

मधुमक्खी-पालन.jpg

हालांकि अगर आप यह सोच रहे हैं कि मधुमक्खी के डब्बे में एक साथ कितनी मधुमक्खियां रखी जाती हैं, तो इसका जवाब यह है कि, मधुमक्खी के एक बॉक्स में तीन प्रकार की मधुमक्खियां रखी जाती है. इन तीन प्रकार के मधुमक्खियों में एक रानी मधुमक्खी, 2 हजार नर मधुमक्खी, और श्रमिक मधुमक्खी लगभग 50000 से 70 हजार की संख्या में शामिल होती हैं |

श्रमिक मधुमक्खी के कार्य श्रमिक मधुमक्खी का मुख्य कार्य होता है छत्ते का निर्माण करना, और उन क्षेत्रों के अंदर शहद को इकट्ठा करना. यह मधुमक्खियां फूलों के रस को शहद में परिवर्तित करके, छत्तो के अंदर शहद को इकट्ठा करती हैं |

honey-bee.jpg

रानी मधुमक्खी रानी मधुमक्खी आकार में सबसे बड़ी होती है, और इसका रंग भी अन्य मधुमक्खियों की तुलना में अधिक गहरा होता है |

शहद निकालने का तरीका मधुमक्खी के बॉक्स से शहद निकालने के लिए, सबसे पहले बॉक्स को फ्रेम से निकाला जाता है, और उसके बाद इसे शहद निकालने की मशीन में डाल दिया जाता है, और मशीन को चालू कर दिया जाता है. इसके बाद मशीन चालू होने पर, शहद इस मशीन के निचले हिस्से पर जमा होना चालू हो जाता है |

हालांकि किसी भी प्लांट में बनाए गए शहद में क्रिस्टल की मात्रा भी शामिल होती है, इसलिए इन प्लांटों में बनाए गए शहद से, क्रिस्टल की मात्रा निकालने के लिए, इस शहद को लगभग 49 डिग्री के तापमान पर गर्म किया जाता है, जिससे कि क्रिस्टल की मात्रा शुद्ध रूप से शहद में परिवर्तित हो सके. जिसके बाद इस शहद को लगभग 24 घंटों के लिए इसी तापमान पर छोड़ दिया जाता है, और इस प्रक्रिया के पूरा होने के बाद यह शहद पूरी तरह से पैकिंग करने के लिए तैयार हो जाता है, जिसके बाद इस शहद को डिब्बों में पैक किया जाता है, और बाजार तक पहुंचा दिया जाता है |

मधुमक्खी पालन के लिए समय मधुमक्खी पालन के लिए गर्मी और बसंत का समय काफी उत्तम माना जाता है, क्योंकि इस समय में मधुमक्खी पालन करने के लिए, और मधुमक्खी के व्यवसाय को अच्छी तरह समझने के लिए, आपके पास एक बेहतर अवसर होता है |

हालांकि आपके मन में यह सवाल हो सकता है कि, सिर्फ गर्मी और बसंत के समय में भी मधुमक्खी पालन करना क्यों उचित होता है? तो इसके लिए आपको बता दें कि, मधुमक्खियां शहद को बनाने के लिए फूलों का इस्तेमाल करती हैं, इसीलिए गर्मी और बसंत की ऋतु में खेतों में उगने वाले फसल, जैसे कि सरसों और अन्य फूलों से रस प्राप्त करने में आसानी होती है, इसीलिए फूलों की खेती के साथ यह उद्योग काफी फायदेमंद हो जाता है, और सरसों की खेती के साथ इस उद्योग को आरंभ किया जा सकता है |

Kvic के द्वारा मधुमक्खी पालन में सहायता के वी आई सी ने मधुमक्खी पालकों को मधुमक्खी पालन के लिए मधुमक्खी कालोनी की जांच करने, वानस्पतिक उपकरणों के साथ परिचित कराने, मधुमक्खी के दुश्मनों और बीमारियों की पहचान एवं उनकी रोकथाम करने, शहद निकालने और मोम शोधन करने तथा वसंत गर्मी मानसून, शरद ऋतु और सर्दी में मधुमक्खी कॉलोनी की प्रबंधन के बारे में, विशेष रुप से प्रशिक्षण देने के लिए योजना बनाई है |

मधुमक्खी पालन उपकरण

मधुमक्खी पालन के लिए बहुत सारे उपकरण भी बाजार में मौजूद हैं, जिनका इस्तेमाल आप भी विभिन्न तरीकों से कर सकते हैं, इनमें कुछ इलेक्ट्रॉनिक उपकरण भी हैं |
honey storage tank
manual bee smoker
plastic beehive frame with foundation
bee log feeder
bee frame feeder
sheepskin bee gloves
queen exclusion stainless steel
electric uncapping knife
bee venom collector device
electric beehive smoker
refractometer for honey
queen’s cup system starter kit

मधुमक्खी पालन में प्राप्त होने वाली उत्पाद

मधुमक्खी पालन में प्राप्त होने वाले प्रमुख उत्पादक इस प्रकार हैं- Honey, Queen Bee, Shahi jelly (Royal jelly) propolis, Parag.
हालांकि मधुमक्खी पालन व्यवसाय में मोम और शहद मुख्य रूप से लाभ प्रदान करने वाले उत्पाद है, मधुमक्खियों द्वारा बनाए गए हनी कुंभ (मधुमक्खी का छत्ता) का उपयोग दवाइयां बनाने के लिए, फर्नीचर पॉलिश करने के लिए, डिजाइनिंग या कला सामग्री कॉस्मेटिक्स और मोमबत्ती आदि का निर्माण करने के लिए किया जाता है |
के वी आइ सी ने स्वच्छ शहद और मोम के अलावा, मधुमक्खी पालन के द्वारा बेरोजगार युवाओं और इच्छुक युवा उद्यमियों के लिए रोजगार के कई अवसर खोल दिए हैं |

मधुमक्खी पालन करने के लिए ऋण (honey bee farming government subsidy)

केवीआईसी के द्वारा मधुमक्खी पालन व्यवसाय में उपयोग होने वाले प्रसंस्करण, पैकेजिंग, और शहद के लिए लेबलिंग इकाइयों की स्थापना के लिए रण भी मुहैया कराया जाता है, इसलिए अगर आप मधुमक्खी पालन का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं और आपके पास पूंजी नहीं है, तो आप आसानी से के वी आई सी के द्वारा शुरू की गई, इस संस्था के द्वारा लाभ प्राप्त कर सकते हैं. और अपने व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं |

मधुमक्खी पालन व्यवसाय में 10 बॉक्स की इकाई शुरू करने पर, लगभग 80% का अनुदान दिया जाता है. बाकी 20% किसान को अपने पास से निवेश करना पड़ता है |
इस मिशन के तहत अब तक लगभग 490 टन शहद निकाला गया है, जिसकी कीमत लगभग 8 करोड़ है |

शहद को कहां बेचे

sahad marketing हालांकि अगर आप मधुमक्खी पालन व्यवसाय को शुरू कर रहे हैं, तो इसके लिए मार्केटिंग करना भी एक बहुत बड़ी समस्या होती है, इसलिए आप शहद बेचने के लिए किसी फुटकर विक्रेता, या फिर थोक रेट विक्रेता से भी संपर्क कर सकते हैं. या फिर अगर आप खुद इसकी मार्केटिंग करना चाहते हैं, तो इसके लिए आप अपने ब्रांड का लोगो लगाकर, अपने नाम से भी इस व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं |

जिसके लिए आपको मार्केटिंग करने की जरूरत होगी, और मार्केटिंग करने के लिए आप न्यूज़पेपर मैं ऐड दे सकते हैं, या फिर ऑनलाइन ऐड भी शुरू कर सकते हैं. साथ ही साथ अगर आप इसे ऑनलाइन बेचना चाहते हैं, तो इसके लिए आप अपने कंपनी की वेबसाइट बना सकते हैं, और जहां से थोक और फुटकर विक्रेता के रूप में इस व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं |

मधुमक्खी पालन का व्यवसाय शुरू करने के लिए लाइसेंस

जैसा कि हम सभी जानते हैं किसी भी व्यवसाय को शुरू करने के लिए, उसे एक ब्रांड के रूप में लोगों के सामने लाने के लिए, अपने व्यवसाय को रजिस्टर करने की जरूरत पड़ती है. और व्यवसाय को रजिस्टर करने के लिए, ट्रेडमार्क की भी आवश्यकता पड़ती है. इसलिए अगर इस व्यवसाय को आप एक बड़े लेवल पर शुरू करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको रजिस्ट्रेशन जरूर करवाना चाहिए, जिसमें आप इंपोर्ट एक्सपोर्ट भी कर सकते हैं |

मधुमक्खी पालन का व्यवसाय शुरू करने के लिए निवेश

मधुमक्खी पालन का व्यवसाय शुरू करने के लिए, लगभग 50,000 निवेश करने की आवश्यकता होती है. हालांकि अगर आप अधिक लंबा व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं, तो इसके लिए आप loan भी प्राप्त कर सकते हैं |

निष्कर्ष

आज की पोस्ट honey bee farming business plan in india में, हमने समझा मधुमक्खी पालन का व्यवसाय किस तरह शुरू कर सकते हैं, और इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए किन-किन चीजों की आवश्यकता होती है. उम्मीद है आपको यह जानकारी पसंद आई होगी, अगर जानकारी अच्छी लगी तो दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ भी साझा करें | धन्यवाद |

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here