Masked Aadhaar Card: आधार कार्ड की कॉपी निकलवाते समय रहें सावधान, केंद्र सरकार ने जारी किया अलर्ट

0
1234
masked-aadhaar-card.webp
Rate this post

masked aadhaar card: भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण यूआईडीएआई के द्वारा जारी किए गए आधार कार्ड में कई प्रकार की जानकारी शामिल होती है

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण यूआईडीएआई के द्वारा आधार कार्ड जारी किया जाता है जिसके अंदर 12 अंक का डिजिट शामिल होता है जिसे हम आधार संख्या के नाम से भी जानते हैं साथ ही साथ इसमें व्यक्ति के iris और फिंगरप्रिंट जैसे बायोमेट्रिक शामिल किए जाते हैं इसलिए यह बहुत ही जरूरी है कि जब भी आप अपने आधार कार्ड की कॉपी निकलवा देते हैं तो आपको थोड़ी सावधानी बरतनी चाहिए

masked-aadhaar-card.webp

masked aadhaar card

आधार कार्ड के अंदर उपयोग किया गया बायोमेट्रिक किसी भी व्यक्ति की पहचान को सुनिश्चित करने के लिए होता है इसीलिए जब भी आप अपने आधार कार्ड को कहीं शेयर करते हैं तो आपको इसके लिए सावधानी बरतनी चाहिए सरकार के द्वारा यह गाइडलाइंस जारी किया गया है कि यदि आप अपने आधार कार्ड की कॉपी कहीं पर देते हैं तो आपको विशेष सावधानी बरतनी चाहिए और अपने masked aadhaar card को ही शेयर करना चाहिए, नहीं तो इसका गलत उपयोग भी हो सकता है

आधार कार्ड का हो सकता है गलत उपयोग

सरकार के द्वारा जारी किए गए गाइडलाइंस में यह बताया गया कि यदि आप अपने आधार कार्ड की फोटोकॉपी किसी संस्था को सौंपते हैं इसका गलत उपयोग भी हो सकता है इसलिए जब भी आप अपने आधार कार्ड को किसी के साथ शेयर करते हैं तो आपको मास्क्ड आधार कार्ड का उपयोग करना चाहिए

क्या है मास्क्ड आधार कार्ड | What is masked aadhaar card

बहुत सारे लोग मास्क्ड आधार कार्ड को लेकर कंफ्यूज होते हैं कि आखिर मास्क्ड आधार कार्ड क्या होता है तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जिस तरह से आप के आधार कार्ड में पूरे 12 अंकों के कोड दिखाई देते हैं जबकि मास्क्ड आधार कार्ड के अंदर आखिरी के सिर्फ 4 अंक ही दिखाई देते हैं इसे आप ऑनलाइन डाउनलोड कर सकते हैं

साइबर कैफे से कभी ना करें डाउनलोड

सरकार ने चेतावनी देते हुए यह सूचना जारी की है कि किसी भी व्यक्ति को अपने आधार कार्ड को डाउनलोड करने के लिए पब्लिक कंप्यूटर या साइबर कैफे का उपयोग नहीं करना चाहिए और यदि वे डाउनलोड करते भी हैं तो यह जरूर सुनिश्चित करना चाहिए की प्रिंट करवाने के बाद डाउनलोड की गई कॉपी को डिलीट कर दिया गया हो

इसे भी पढ़ें: अब व्हाट्सएप पर भी डाउनलोड कर सकेंगे पैन कार्ड, आरसी और ड्राइविंग लाइसेंस जैसे डॉक्यूमेंट

गैर लाइसेंसी संस्थान नहीं रख सकते आपका आधार कार्ड

इलेक्ट्रॉनिक और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के द्वारा जारी किए गए नोटिस में यह साफ तौर पर बताया गया है कि कोई भी गैर लाइसेंसी प्राइवेट इकाइयां किसी भी व्यक्ति की आधार कार्ड को कलेक्ट नहीं कर सकते हैं और ना ही उन्हें किसी व्यक्ति के आधार कार्ड को अपने पास रखने का अधिकार है जैसे कि सिनेमा हॉल या फिर कोई होटल, सिर्फ ऐसे प्राइवेट संस्थान ही आपके आधार कार्ड को रखने के लिए उत्तरदाई हैं जिनके पास भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण UIDAI के द्वारा यूजर का आधार कार्ड कलेक्ट करने का लाइसेंस प्राप्त है

ऐसे डाउनलोड कर सकते हैं masked aadhaar card

मस्कड आधार कार्ड को डाउनलोड करना बहुत ही आसान है इसे डाउनलोड करने के लिए आपको भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण UIDAI की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा और यहां पर आपको Do You Want a Masked Aadhaar के विकल्प का चुनाव करना होगा जिसके बाद आपको अपनी सभी जानकारी को भर कर सबमिट करना होगा जिसके बाद आप अपने masked aadhaar card आधार कार्ड को डाउनलोड कर सकते हैं इसके अलावा यदि आप चाहें तो डीजी लॉकर और m-aadhaar जैसी सुविधा का उपयोग करके भी Masked Aadhaar डाउनलोड कर सकते हैं

Follow Us: Google News

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण के द्वारा आधार कार्ड जारी किया जाता है जिसमें 12 न्यूमैरिक डिजिट होते हैं जिसे हम आधार नंबर के नाम से भी जानते हैं या किसी भी सरकारी सुविधा का लाभ लेने के लिए या फिर अपनी पहचान को सत्यापित करने के लिए अनिवार्य है इसी के साथ आप आधार कार्ड का उपयोग कई सारी सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए भी कर सकते हैं और डिजिटल पेमेंट का उपयोग करने के लिए aadhaar pay के ऑप्शन का उपयोग करके पेमेंट भी किया जा सकता है, इसीलिए जरूरी है कि आप किसी को अपने आधार कार्ड की फोटो कॉपी देने से बचें और masked aadhaar card का उपयोग करें

उपयोग कर सकते हैं m-aadhaar

एंड्राइड स्मार्टफोन उपयोगकर्ताओं के लिए m-aadhaar सबसे ज्यादा सुरक्षित है इस एप्लीकेशन को गूगल प्ले स्टोर या एप्पल स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है और इसे आसानी से एक्सेस करके अपने आधार कार्ड को इस स्मार्टफोन के एप्लीकेशन में सेव किया जा सकता है और जरूरत पड़ने पर इसका उपयोग किया जा सकता है इसमें एक विशेष फीचर उनकी जोड़ा गया है जिसकी मदद से यदि आप अपने डिवाइस को बदल देते हैं तो नए डिवाइस में एक आधार नंबर को एक्टिवेट होने के बाद पुराने डिवाइस से यह अपने आप डीएक्टिवेट हो जाता है

इसे भी पढ़ें: Aadhaar Fraud: UIDAI ने किया सावधान लाॅक कर लें अपना आधार कार्ड

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें