सरकार ने बदला SIM कार्ड का यह नियम इन ग्राहकों को होगी मुश्किल

0
258
बदल-गए-sim-कार्ड-रुल.webp
Rate this post

SIM Rule: सिम कार्ड के एक नए नियम के अनुसार अब ग्राहक ऑनलाइन भी सिम कार्ड बुक कर सकते हैं और इसे ऑनलाइन ही वेरीफाई करके उपयोग कर सकते हैं

SIM Rule: आमतौर पर सिम कार्ड लेने के लिए ग्राहकों को किसी स्टोर पर जाकर सिम कार्ड खरीदना होता है और सिम कार्ड खरीदने के एक-दो घंटे के बाद ही यह सिम कार्ड एक्टिवेट हो जाता है जिसके लिए ग्राहकों को अपने वैध दस्तावेज जमा करने होते हैं लेकिन अब सिम कार्ड खरीदना इतना आसान नहीं रह जाएगा क्योंकि सिम कार्ड को लेकर सरकार ने कुछ ऐसे बदलाव किए हैं जिसके द्वारा कुछ ऐसे ग्राहक हैं जिनको सिम कार्ड खरीदने में बहुत ज्यादा आसानी होगी और कुछ ऐसे भी ग्राहक हैं जिन्हें सिम कार्ड खरीदने में बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है

बदल-गए-sim-कार्ड-रुल.webp

अब ग्राहकों को नया SIM कार्ड लेने के लिए किसी नजदीकी स्टोर पर या दुकान पर जाने की आवश्यकता नहीं होगी यदि कोई ग्राहक नया सिम कार्ड खरीदना चाहता है तो इसे ऑनलाइन अप्लाई कर सकता है जिसके लिए उसे कुछ डॉक्यूमेंट जमा करने होंगे जिसके बाद सिम कार्ड को उसके घर पर ही डिलीवर कर दिया जाएगा, इसी के साथ कंपनी ने यह नया नियम भी लागू किया है कि जिन ग्राहकों की उम्र 18 वर्ष से कम है उन ग्राहकों को सिम कार्ड नहीं दिया जाएगा 18 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोग अपने सिम कार्ड को वेरीफाई करने के लिए अपने आधार कार्ड और डीजी लॉकर का उपयोग करके अपनी सिम कार्ड को एक्टिवेट कर सकते हैं

सरकार के द्वारा जारी किए गए इस नए नियम की वजह से उन लोगों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ेगा जिन लोगों की उम्र 18 वर्ष से कम है लेकिन यहीं पर उन लोगों के लिए Sim कार्ड लेना और इसे एक्टिवेट करना बहुत ही आसान हो जाएगा जिनकी उम्र 18 वर्ष से ऊपर है और उनके आधार कार्ड और पैन कार्ड जैसे डॉक्यूमेंट पूरी तरह से गवर्नमेंट के द्वारा अप्रूव्ड है ऐसे लोग आसानी से घर बैठे सिम कार्ड के लिए आवेदन कर सकेंगे और इसे ऑनलाइन ही एक्टिवेट कर सकेंगे

इसे भी पढ़ें:-

Follow us: google news

नए नियम के अनुसार जिन ग्राहकों का मानसिक संतुलन स्थिर नहीं है ऐसे ग्राहकों को नया SIM CARD नहीं जारी किया जाएगा और यदि ऐसा व्यक्ति किसी भी तरह से नया सिम कार्ड खरीद लेता है और उसे किसी गलत उद्देश्य से उपयोग करता है जिससे कि साधारण जन को किसी मुश्किल का सामना करना पड़ता है तो ऐसे में सिम कार्ड प्रदान करने वाली कंपनी को दोषी माना जाएगा

ग्राहकों को करना होगा ₹1 का भुगतान

सिम कार्ड के नए नियम के अनुसार ग्राहकों को नए SIM कार्ड कनेक्शन के लिए UIDAI के द्वारा जारी की गई आधार कार्ड बेस्ड E-KYC सर्विस का उपयोग करके उपयोगकर्ता का वेरिफिकेशन करने के लिए सर्टिफिकेशन चार्ज के रूप में ₹1 का भुगतान करना होगा

नया सिम लेने की प्रक्रिया पूरी तरह से एप्लीकेशन पर निर्भर होगी DoT के अनुसार ग्राहकों को सिम कार्ड कनेक्शन application portal based प्रक्रिया के द्वारा प्रदान किया जाएगा जिसके अनुसार ग्राहक घर बैठे अपने मोबाइल फोन का उपयोग करके एप्लीकेशन के द्वारा घर बैठे सिम कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं जिसके बाद उनके घर पर ही सिम कार्ड को डिलीवर कर दिया जाएगा, यहां पर ध्यान देने वाली बात यह है कि दूरसंचार विभाग (DoT) के द्वारा जारी किया गया यह नियम दूरसंचार समस्याओं में सुधार करने के लिए 15 सितंबर को कैबिनेट के द्वारा अनुमोदित किया गया एक हिस्सा है

निष्कर्ष

SIM लेने के लिए user अपने मोबाइल के द्वारा ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं जिसके बाद उन्हें घर पर ही सिम कार्ड डिलीवर किया जाएगा, 18 साल से कम उम्र के लोग सिम कार्ड नहीं ले सकते हैं. सिम कार्ड को लेकर सरकार के द्वारा जारी किए गए इस फैसले की वजह से सिम के अवैध इस्तेमाल को रोकने में मदद मिलेगी और सिम कार्ड उपयोगकर्ताओं की ट्रांसपेरेंसी पर नजर रखने में भी कंपनी को आसानी होगी सरकार के द्वारा दूरसंचार विभाग के इस नए नियम को लेकर आपकी क्या राय है हमें कमेंट बॉक्स में देना ना भूलें धन्यवाद|

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें