5 tips before start youtube channel

5 tips before start youtube channel

दोस्तों मेरा नाम जान्हवी शंकर तिवारी है. आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे कि हमें अपना youtube channel स्टार्ट करने से पहले किन -किन चीजों पर ध्यान देना चाहिए. क्योंकि हमें किसी भी काम को स्टार्ट करने से पहले यह जान लेना चाहिए कि हम को करना क्या है. तो दोस्तों चलिए जानते हैं कि 5 tips before start youtube channel


अगर आप किसी भी बिजनेस को स्टार्ट करने जा रहा है. या फिर आप कोई काम करने जा रहे हैं. अगर आपने उसकी प्लैनिंग पहले से की हुई है कि हमें करना क्या है. तो आपके लिए आसान हो जाता है, क्योंकि मान लीजिए कि आप अपने घर से बाहर निकलते हैं, एंड आपको यह पता होता है, कि आप को जाना कहां है तो यहां पर आप कंफर्म होते हैं, उसी तरह से आप किसी भी बिजनेस को जब स्टार्ट करते हैं, तो उसके पहले यह कन्फर्म कर लेना जरूरी होता है कि हमें करना क्या है. हमें अपनी मंजिल पर पहुंचना है तो कौन सी जगह पर पहुंचना है, इसी तरह से अगर आप एक यूट्यूब चैनल स्टार्ट करना चाहते हैं, तो उसके पहले इस चीज को समझ लेना बहुत ही जरूरी है|

1 How to find your channel Nich /start youtube channel

जब हम अपना नया यूट्यूब चैनल स्टार्ट करने के बारे में सोचते हैं,

तो पहले हमें यह समझ लेना जरूरी है, कि हमें कौन से पर काम करना है,

यानी कि जो हमारे चैनल का टॉपिक होगा वह क्या होना चाहिए,

मान लीजिए कि आप एक हेल्थ के टॉपिक से रिलेटेड चैनल का

सलेक्ट करते हैं, अब हेल्थ की रिकॉर्डिंग अगर बात करें तो यहां पर

हेल्थ में बहुत सारी चीजें आती हैं,जैसे कि आप jogging के बारे में बना सकते हैं,

आप वेट के बारे में बना सकते हैं, लेकिन अगर आप यही वेट के

micro niche की बात करें,तो उस micro niche के अंदर आता है

weight loss and weight gain फ्रेंड्स अगर इन दोनों में से आप

एक को सेलेक्ट करते हैं, कि आप का जो चैनल का जो niche है,

आप वहां पर जो भी content provide करने वाले हैं,

वह आप weight loss के बारे में बनाने वाले हैं,

या फिर weight gain के बारे में बनाने वाले हैं,

जब इस तरह से आप एक टॉपिक को फाइंड कर लेते हैं,

तो यहां पर आपके चैनल का जो niche हुआ वह हुआ weight loss.

तो यहां पर आपके channel का एक Topic सेलेक्ट हो गया,

जो आपके चैनल का niche है, और किसी तरह से आपको

यह सेलेक्ट करना है कि आपके अंदर आखिर वह कौन सी quality है,

आपके अंदर ऐसा कौन सा टॉयलेंट है, जिसको आप अपनी

ऑडियंस को दे सकते हैं, और इन सारी चीजों को ढूंढने के बाद

आप अपनी एक टारगेट नीच पर कुछ सेलेक्ट करते है.
दोस्तों यहां पर ध्यान देने वाली बात यह है,

यहां पर weight loss से रिलेटेड आपको कम से कम 25 से 30 ऐसे

वीडियोस के बारे में, ऐसे कंटेंट को आपको लिखना होगा जिस

पर आप वीडियो बना सकते हैं

2 how to write script/ start youtube channel

जब आप अपनी वीडियो को बनाना स्टार्ट करते हैं, तो इससे पहले आपको अपने वीडियोस को बनाने के लिए स्क्रिप्ट को भी तैयार करना होगा इस स्क्रिप्ट को तैयार करने के लिए ऐसा नहीं है कि आप पूरी वीडियो की डिटेल ही उस स्क्रिप्ट के अंदर लिख देंगे, आपको वीडियो के अंदर का जो टाइटल है उस टाइटल के अंदर आपके जो मेन मेन पॉइंट है, जो कि आपको वीडियो के अंदर बताने हैं, आप कुछ पॉइंट को अच्छी तरह से लिख करके आप अपने वीडियोस को बनाएंगे जिससे की आपके लिए आसानी हो जाएगी आप अपनी वीडियो को बनाते समय किसी भी टॉपिक को भूल नहीं पाएंगे, जिससे कि आपको वीडियो बनाने में कोई परेशानी नहीं होगी चाहे वह आप वॉइस ओवर और करते हो या फिर फेसकैम की वीडियो बनाते हो.

जब आप अपनी नीच को सेलेक्ट कर लेते हैं और उसके बाद अपनी वीडियोस के टॉपिक को आप लिख लेते हैं तो यहां पर बात आती है कि हम अपने वीडियो को किस फॉर्म में बनाएंगे, तो यहां पर आपके सामने दो ऑप्शन आते हैं कि आप अपनी वीडियोज को सिर्फ वॉइस ओवर करेंगे या फिर आप अपनी वीडियो को फेसकैम के साथ क्रिएट करेंगे, तो यहां पर आपको समझना होगा कि आपके जो चैनल का नीच है, वह कौन सी क्वालिटी का है अगर आप कोई फैक्ट का चैनल बना रहे हैं तो आप यहां पर एक वॉइस ओवर से शुरुआत कर सकते हैं, लेकिन यहीं पर अगर आपका कोई कॉमेडी चैनल है तो आपको यहां पर फेस कैम से स्टार्ट करना होगा, या फिर अगर आप कोई बिजनेस का स्टार्टअप कर रहे हैं तो भी आपको
फेस कैम के साथ की स्टार्टिंग करनी होगी.

3 how to create video /start youtube channel

वीडियो बनाने के लिए किन-किन चीजों की जरूरत होगी वैसे तो आप अपने वीडियोस को बनाने के लिए एक नॉर्मल स्टार्टअप भी कर सकते हैं अगर आप यूट्यूब पर लंबे समय तक काम करना चाहते हैं, आप अपने चैनल को ब्रांड की तरह से यूज करना चाहते हैं तो जब आप यह डिसाइड कर लेते हैं कि आपको अपने चैनल पर एक लंबे समय तक काम करना है या फिर आपको जब यह कंफर्म हो जाता है कि आप अपनी वीडियो को बनाने के लिए वॉइस ओवर से स्टार्ट कर रहे हैं या फिर आप फेसकैम वीडियो बना रहे हैं.

वैसे तो अगर आप एक क्वालिटी कंटेंट क्रिएट करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको बहुत सारी चीजों की जरूरत होगी जैसे कि आपको सबसे पहले तो एक कैमरे की जरूरत होगी साथ ही साथ एक ट्राइपॉड की जरूरत होगी और उसके साथ एक माइक की जरूरत होगी और इसके साथ लाइटिंग की भी जरूरत होगी, लेकिन अगर आप एक नया स्टार्टअप कर रहे हैं तो नए स्टार्टअप के लिए आपको इन सारी चीजों को करने की जरूरत नहीं है, आप सिर्फ एक माइक के साथ अपने मोबाइल का भी इस्तेमाल करके आप अपने नए चैनल को स्टार्ट कर सकते हैं,और जब आपका चैनल बडा जाए तो आप आसानी से एक नया कैमरा,माइक और लाइटिंग की भी व्यवस्था कर सकते हैं, वैसे तो आप एक नेचुरल लाइट का भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

4 Which time to upload video

जब आप अपनी सारी चीजों की व्यवस्था कर लेते हैं, और उसके बाद जब आप अपनी वीडियो को बना लेते हैं तो अब बात आती है वीडियो को अपलोड करने की, आपको अगर यूट्यूब चैनल को ग्रो करना है तो इसके लिए आपको पहले से डिसाइड करना होगा कि आप अपने कंटेंट को कब अपलोड करने वाले हैं, यानी कि हमारे कहने का मतलब यह है कि जब आप अपनी वीडियो को अपलोड करने का एक शेड्यूल्ड रखेंगे कि आप हफ्ते में कौन से दिन को अपनी वीडियो को अपने चैनल पर अपलोड करेंगे, अगर आप daily बेस पर अपनी वीडियो को अपलोड करते हैं तो अच्छी बात है,

लेकिन अगर आपको समय नहीं मिल पाता है तो आप को कम से कम हफ्ते में तीन वीडियोज को तो अपलोड करना ही चाहिए, और अगर आपको इतना भी समय नहीं मिल पाता है तो आपको 1 दिन फिक्स कर देना चाहिए जैसे कि आप अगर मंगलवार को अपनी वीडियो को शाम के 8:00 बजे अगर पब्लिश करते हैं, तो आपको हर हफ्ते का यह सेड्यूल होना चाहिए कि आपकी जो भी वीडियो पब्लिश होगी वह वीडियो मंगलवार को शाम को 8:00 बजे ही पब्लिक होगी, इससे क्या होगा कि आपकी जो ऑडियंस रहेंगे वह ऑडियंस आपकी वीडियो को देखने के लिए उसका इंतजार करेंगे और वह आपकी वीडियो में इंटरेस्टेड रहेंगे और आपकी वीडियो का जो इंगेजमेंट होगा वह भी बढ़ेगा तो इससे आपके चैनल को ग्रो करने की संभावना ज्यादा रहेगी.

5 improve your content

जैसे-जैसे आपके सब्सक्राइबर बढ़ते जाते हैं आपका चैनल धीरे-धीरे ग्रो करने लगता है, तो आपको इन सारी चीजों को छोड़ कर के अपने कंटेंट पर ध्यान देना होगा, अगर आप अपने कंटेंट पर ध्यान देते हैं और अपने कंटेंट को और भी ज्यादा बेहतर बनाने की कोशिश करते हैं तो आपकी जो ऑडियंस होगी वह ऑडियंस की इंगेजमेंट हमेशा आपके चैनल पर बनी रहेगी क्योंकि जो यूट्यूब का कहना है कि वह यूनीक कंटेंट चाहता है तो यूनीक कंटेंट को बनाने के लिए जो आपके वीडियो की क्वालिटी है, और साथ ही साथ जो आपकी ऑडियो की क्वालिटी है वह भी बेहतर होनी चाहिए,आप अपनी वीडियो को बेस्ट बनाने के लिए किसी भी वेबसाईट से स्टाक फुटेज या विडियो का भी इस्तेमाल कर सकते है.

दोस्तों उम्मीद करते हैं कि आपको यह जानकारी समझ में आ गई होगी, पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें,धन्यवाद।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *