Youtube Video Vairal karen

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम जानवी शंकर तिवारी है, दोस्तों आज की इस आर्टिकल में हम जानेंगे.कि आखिर हमारी एक वीडियो को कैसे वायरल करता है. और वीडियो को वायरल करने के पीछे कौन-कौन से फैक्टर काम करते हैं. और हमारी वीडियो को वायरल करने के साथ-साथ, हमारे चैनल को ग्रो करने के लिए हमें और कौन कौन से काम करने होंगे. आखिर वह कौन-कौन सी रिक्वायरमेंट है, Video Vairal karen

जिससे कि हमारा चैनल जल्दी से जल्दी ग्रो कर जाएगा. अगर हम इन सारी चीजों को ध्यान में रखते हैं,तो हम काफी आसानी से अपने को ग्रो कर सकते हैं. तो चलिए जानते हैं, Youtube Video Vairal karen

यूट्यूब वीडियो वायरल कैसे करते हैं

दोस्तों एक वीडियो को वायरल करने के लिए वैसे तो बहुत सारे फैक्टर काम करते हैं, लेकिन हमें

एक वीडियो को वायरल करने के लिए, दो चीजों की सबसे ज्यादा जरूरत होती है. एक तो

हमारी थम्बनेल का जो सीटीआर होता है और दूसरा हमारा वॉच टाइम. इसके साथ ही साथ अगर

हमें अपने वीडियो को वायरल करना है, तो youtube Video को Vairal करने के लिए

एस. ई. ओ करना बहुत जरूरी होता है.

एस. ई. ओ क्या है | Youtube Video Vairal karen

यूट्यूब एस ई. ओ यानी कि सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन. दोस्तों अगर आपको अपनी वीडियो को वायरल करना है,

तो आपको चार चीजों पर ध्यान देना होगा. सबसे पहला यूनीक कंटेंट. दूसरा क्वालिटी कंटेंट.

तीसरा बेस्ट थंबनेल. और चौथा और सबसे जरूरी पार्ट होता है, हमारी वीडियो का एस. ई. ओ. क्या है.

आपको एक यूनीक कंटेंट बनाना होगा

दोस्तों अगर आप के चैनल का नीच एक टारगेट है. अगर आप एक नीच टारगेट पर वीडियो बनाते हैं.

तो आपको टारगेट नीच पर वीडियो बनाने के साथ-साथ, आपको एक यूनीक कंटेंट बनाना होगा.

यूनीक कंटेंट बनाने के लिए आपको क्या करना होगा. दोस्तों अगर आप किसी भी कीवर्ड के ऊपर,

यूट्यूब पर वीडियो बनाते हैं. तो वीडियो बनाने के लिए, वैसे तो हर कीवर्ड के ऊपर बहुत ज्यादा कंपटीशन है.

लेकिन आपको यूनीक कंटेंट बनाने के लिए, अपने ही वीडियो के पैटर्न को बार-बार तोड़ना होगा.

जैसे कि जब आप वीडियो बनाते हैं, तो आप वीडियो के स्टार्टिंग में क्या करते हैं.

पैटर्न को तोड़ने के लिए आपको हर बार अपनी वीडियो को कुछ अलग अंदाज में बनाना होगा.

अपनी विडियो के इंट्रो को बदलना होगा. दोस्तों यहां वीडियो की इंट्रो को बदलने का मतलब यह है कि,

जब आप अपनी वीडियो में कुछ बोलना स्टार्ट करते हैं. तो आप वहां पर सबसे पहले वीडियो का इंट्रो बताते हैं.

लेकिन ऐसा नहीं है, आपको कभी वीडियो के इंट्रो से स्टार्ट करना है, कभी बिना इन्ट्रो का स्टार्ट करना है,

और कभी वीडियो के बीच की कुछ पार्ट को आपको ट्रेलर में दिखाना है.

इससे क्या होगा कि आपकी वीडियो का जो पैटर्न होगा, वह हर बार टूटेगा. और कुछ ना

कुछ आपके कंटेंट में यूनिकनेस आती रहेगी, दोस्तों अगर क्वालिटी कंटेंट की बात करें तो,

क्वालिटी कंटेंट में आपको दो चीजों पर ध्यान देना बहुत ही जरूरी है. सबसे पहले आप की

वीडियो की क्वालिटी क्या है, जो जो यूट्यूब की रिक्वायरमेंट है. आपको उन सारे रिक्वायरमेंट को पूरा करना होगा,

जैसे की वीडियो की लाइटिंग अच्छी है, या नहीं है. आपकी वीडियो में अच्छी लाइट आ रही है, या नहीं आ रही है.

ऑडियो क्वालिटी

दोस्तों आपको यूट्यूब पर वीडियो बनाने के लिए, अपने ऑडियो क्वालिटी पर ध्यान देना बहुत ही जरूरी है. अगर वीडियो में थोड़ी बहुत लाइट की कमी रह जाती है, तो भी चलेगा. लेकिन आपको अपने ऑडियो पर बहुत ज्यादा ध्यान देना है, अगर ऑडियो पर आप ध्यान नहीं देते हैं. अगर आप की ऑडियो साफ नहीं सुनाई देती है. तो लोग आपकी वीडियो में इंटरेस्टेड ही नहीं होंगे, क्योंकि अगर उन्हें समझ में ही नहीं आएगा कि आप क्या कह रहे हैं, तो वह आपकी वीडियो को क्यों देखेंगे.

थंबनेल बनाने के तीन नियम

दोस्तों थंबनेल बनाने के लिए हमें तीन चीजों का ध्यान बहुत ज्यादा रखना होगा. सबसे पहले हमारा बैकग्राउंड, दोस्तों बैकग्राउंड हमारा कुछ इस तरह से होना चाहिए. कि हमारा जो टेक्स्ट है, वह टेक्स्ट बैकग्राउंड में मैच ना हो. दूसरा हमारे थंबनेल के ऊपर बहुत ज्यादा टैक्सट नहीं डालने हैं, हमें अपने थमेल के ऊपर टेक्स्ट डालते समय सिर्फ इन चीजों का ध्यान देना है, कि वह रीड करने में आसान हो. और साथ ही साथ वह बिल्कुल कैची होना चाहिए. तीसरा आपके थंबनेल के ऊपर एक इमेज भी लगानी है, जो कि आप के वीडियो और टाइटल के साथ बिल्कुल मिलती-जुलती हो. क्योंकि जब कोई आपके थंबनेल को देखता है, साथ ही साथ आपके वीडियो के टाइटल को पड़ता है. तो उसको एक ही बार देखने में समझ में आ जाना चाहिए, कि आप अपनी वीडियो में क्या बताने वाले हैं.

एस.ई.ओ. | Youtube Video Vairal karen

दोस्तों अब बात आती है, एस.ई.ओ. दोस्तों वीडियो का एस. ई. ओ करने के लिए, आपको अपने टाइटल के अंदर कुछ ऐसे कीवर्ड यूज करने होंगे, जिनका कंपटीशन कम हो, और यूट्यूब के ऊपर सर्च ज्यादा हो. इसके लिए आप कीवर्ड प्लानर का इस्तेमाल कर सकते हैं. यहां से जब आपको कीवर्ड मिल जाते हैं, तो आपको उसकी वर्ड को थोड़ा long-tail कीवर्ड बनाना है. जैसे कि अगर आपने कीवर्ड प्लानर के अंदर, एक कीवर्ड सर्च किया best thumbnail तो अब इसे एक long-tail कीवर्ड बनाने के लिए आपको वहां पर लगाना होगा- how to make best thumbnail, इस तरह से आप अपने वीडियो के टाइटल को एक बेस्ट कीवर्ड के साथ स्टार्ट कर सकते हैं. वीडियो का डिस्क्रिप्शन

डिस्क्रिप्शन

दोस्तों वीडियो का डिस्क्रिप्शन बहुत ही जरूरी होता है, जिससे हमें यह पता चलता है.

कि वीडियो के अंदर क्या होने वाला है, इसलिए जब भी आप अपने डिस्क्रिप्शन को लिखना चालू करते हैं.

तो डिस्क्रिप्शन को लिखते समय आपको ध्यान देना है, कि वीडियो के अंदर आपने जो बताया है.

उसके कुछ पार्ट अपने डिस्क्रिप्शन के अंदर जरूर शेयर करें. इसके बाद बात आती है, मेटा डाटा की,

time stamp | Youtube Video Vairal karen

आपको अपने टाइटल का फोकस कीवर्ड, अपने डिस्क्रिप्शन के अंदर जरूर डालना चाहिए. उसके बाद आपको आपके वीडियो का टाईम स्टैम्प डालना चाहिए, टाइमस्टैंप डालने का मतलब है. कि आपने अपनी वीडियो में किस समय पर कौन सी चीज के बारे में डिस्कस किया है. आपको उस पॉइंट के टाईम को राइट टाइम लिखना है. जब आप टाइम स्टैम्प के अंदर अपने वीडियो के पॉइंट को डिस्कस करते हैं. तो यह कीवर्ड अगर कोई सर्च करता है, तो आपकी वीडियो वहां पर दिखाई देती है. जिससे कि आपकी वीडियो का इंगेजमेंट बढ़ती है, और वह वीडियो लोगों के सामने आ जाती है. जिससे कि आपकी वीडियो पर व्यूज जाने के चांसेस ज्यादा होते हैं.

साथ ही साथ आपने वीडियो के कुछ टैग को भी अपने डिस्क्रिप्शन के अंदर यूज करना होगा, इसके साथ ही साथ आप जिस कीवर्ड के ऊपर वीडियो बना रहे हैं, उस कीवर्ड को अपने हैशटैग अंदर जरूर यूज करना है. साथ ही साथ अब आपको अपने कुछ एक्सटर्नल लिंक को भी ध्यान में रखना होगा. जैसे अगर आप अपने फेसबुक, इंस्टाग्राम और टि्वटर अकाउंट का अगर आप लिंक देना चाहते हैं, तो आपको यहां पर लिंक भी देना होगा. और इसके अलावा अगर आप अपनी वीडियो के साथ साथ दूसरी वीडियो का लिंक भी शेयर करना चाहते हैं. तो आपको डिस्क्रिप्शन में उन वीडियो का लिंक भी डालना होगा, जिससे कि आप की नई वीडियो के साथ साथ, जो पुरानी वीडियो है. उन वीडियो पर भी व्यूज आने के चांसेस ज्यादा होते हैं. और आप की नई वीडियो के साथ साथ आप की पुरानी वीडियो भी प्ले होती है,

tags

दोस्तों टैग डालते समय आपको इस चीज का ध्यान जरूर देना है, कि आपने अपनी वीडियो के अंदर जिस चीज के बारे में बताया है, उसी का इस्तेमाल करें. जिससे कि, आपके जब टाइटल, डिस्क्रिप्शन और टैग तीनों जब मैच होंगे, अगर उसी “कीवर्ड” को यूट्यूब पर कोई सर्च करता है, तो आपकी वीडियो सामने आ जाएगी, और आपका थंबनेल कैची, और क्लीकेबल होगा तो, लोग आपके थंबनेल पर क्लिक करेंगे.और आपकी वीडियो को को watch करेंगे. जिससे कि आपकी वीडियो को वायरल होने के चांसेस बढ़ जाते हैं.

एंड स्क्रीन

जब आप अपने वीडियो का S. E. O कर लेते हैं, तो साथ ही साथ आपको अपने वीडियो के एंड स्क्रीन पर ध्यान देना बहुत ही जरूरी है, आपको अपने एंड स्क्रीन में आपकी पुरानी वीडियो जरूर लगानी चाहिए. जिससे कि जब आप की पहली वीडियो खत्म हो जाती है तो ऑटोमेटिक दूसरी वीडियो भी चलने लगती है, और एक वीडियो के साथ साथ दूसरी वीडियो पर भी व्यूज आने लगते हैं.

कार्ड

दोस्तों आपको कार्ड का भी यूज़ जरूर करना चाहिए.अगर आप अपने वीडियो के ऊपर कार्ड का इस्तेमाल करते हैं. तो यहां से आप अपनी कुछ पुरानी वीडियोज के लिंक को भी यहां पर दे सकते हैं. साथ ही साथ अगर आप अपने प्लेलिस्ट को वहां पर दिखाना चाहते हैं. तो आपको कार्ड के अंदर अपना प्ले लिस्ट देना चाहिए. जिससे कि अगर कोई उस कार्ड के ऊपर क्लिक करता है. तो वह आपके प्लेलिस्ट के ऊपर जाएगा, और प्ले लिस्ट के अंदर जितने भी वीडियोज रहेंगे, उन वीडियो में से अगर कोई वीडियो उसको पसंद आती है, तो आप की नई वीडियो के साथ साथ, आपकी पुरानी वीडियोज पर भी व्यूज आने के चांसेस बढ़ जाते हैं. जिससे कि आपका चैनल काफी तेजी से ग्रो करने लगता है,

टारगेट नीच | Youtube Video Vairal karen

दोस्तों जैसा कि ममैंने पुराने आर्टिकल में भी बताया था, कि आपको एक टारगेट नीच पर काम करना चाहिए, अगर आपको यूट्यूब पर लंबे टाइम तक काम करना है, अगर आप एक टारगेट और माइक्रो नीच के साथ काम करते हैं. तो आप यूट्यूब पर लॉग टाइम तक काम कर सकते हैं, दोस्तों अगर आप इन चीजों का ध्यान देते हैं, तो आप काफी आसानी से यूट्यूब चैनल को ग्रो कर सकते हैं. अगर आपको यह नहीं पता है, कि माइक्रो नीच क्या होता है, हमें अपने यूट्यूब चैनल का नीच कैसे सेलेक्ट करना है,

तो आप हमारे पुराने आर्टिकल को देख सकते हैं. जिससे कि आपको समझ में आ जाएगा, कि हमें यूट्यूब चैनल को स्टार्ट करने से पहले क्या करना चाहिए. हमें अपने चैनल का नीच कैसे सेलेक्ट करना चाहिए, और हमें अपने वीडियो को वायरल करने के लिए किन-किन चीजों का ध्यान देना चाहिए. अगर आपने अभी तक उस आर्टिकल को नहीं पढ़ा है, तो आप उन आर्टिकल को भी जरूर पढ़ें.

conclusion

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने समझा कि, एक youtube Video को Vairal करने के लिए कौन-कौन सी चीजों की जरूरत होती है. अगर आप इन चीजों का ध्यान देते हैं तो आप अपनी वीडियो को काफी आसानी से वायरल कर सकते हैं. उम्मीद है, आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा, अगर आर्टिकल पसंद आया तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें ,धन्यवाद.

Leave a Comment